देश/प्रदेश

सीएए के विरोध में धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़प

सीएए के विरोध में धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़प
देहरादून।  परेड मैदान में सीएए के विरोध में धरने पर बैठे विभिन्न संगठनों के लोगों की पुलिस से झड़प हुई। इस दौरान काफी कहासुनी भी हुई। आज गांधी पार्क में दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने, नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनसीआर) के विरोध में विभिन्न संगठन के सदस्य एकत्र हुए। इसमें जन हस्तक्षेप, उत्तराखंड महिला मंच, चेतना आंदोलन, जन संवाद समिति व कांग्रेस के नेता शामिल रहे। वहीं ग्रामीण विकास समिति ने देश में सीएए और एनआरसी के विरोध और समर्थन के नाम पर हो रहे दंगों के पीछे के साजिशकर्ताओं को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। समिति के अध्यक्ष कुंवर सिंह ने कहा कि देश में जो माहौल है, उस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। सामाजिक संगठनों को भी आगे आकर अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। इस दौरान मंजीत सिंह, सूरजभान, रमेश, राजेंद्र भंडारी, राजपाल यादव, दिलशाद, वसीम, इसरत, विजय, महताब आदि मौजूद रहे। वहीं रविवार को सीएए व एनआरसी के विरोध में परेड मैदान में धरना दे रहे आंदोलनकारियों के साथ नव पर्वतीय विकास संस्था के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने होली खेलकर भाईचारे का संदेश दिया। आंदोलनकारियों व संस्था पदाधिकारियों ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली खेली। संस्था संरक्षक एडवोकेट विनोद कुमार व अन्य पदाधिकारियों ने धरने पर बैठे आंदोलनकारियों को शाल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया गया।
एडवोकेट विनोद कुमार, एडवोकेट रजिया बेग, नजमा खान, लताफत हुसैन, जबर सिंह, मोहम्मद इब्राहिम, सरदार खान, इम्तियाज अहमद, अभिषेक गुप्ता, नेहरू कोठारी, जहांगीर खान, वसीम अहमद, नसीम खान, मोहम्मद रियाज, राशिद अली, कासिम चैधरी, महताब आलम, सुरैया बानो, नसीम बानो, आरती शर्मा, अभिषेक गुप्ता  समेत कई उपस्थित थे।

विशेष