देश/प्रदेश

जमा धनराशि वापस दिलाने के लिए किया प्रदर्शन

पिथौरागढ़ : अनंत निधि कोआरपेटिव सोसाइटी के एजेंटों ने जमा धनराशि वापस दिलाने की मांग को लेकर सोमवार को कलक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा वह ग्राहकों की ओर से जमा धनराशि वापस मांगे जाने से परेशान हैं। संचालक संस्था में ताला लगाकर भाग निकला है।

तीन वर्ष पूर्व नगर में शुरू की गई अनंत निधि कोआपरेटिव सोसाइटी ने एजेंटों के माध्यम से लोगों से धनराशि जमा कराई। तब सोसाइटी ने लोगों को आकर्षक ब्याज का भरोसा दिया था।

एजेंटों ने स्वयं अपने नाते-रिश्तेदारों की करोड़ों की रकम संस्था में जमा करवाई। तीन वर्ष बाद जब समय सीमा पूरी हुई तो संस्था ने कार्यालय अचानक बंद कर दिया। इससे एजेंटों के साथ ही जमाकर्ताओं में भी हड़कंप मच गया। तब संस्था के कार्यालय में एजेंटों ने प्रदर्शन करते हुए पुलिस में शिकायत की थी।

पुलिस ने संस्था के स्थानीय प्रबंधक से इस मामले में पूछताछ की। तब प्रबंधक ने पुलिस के समक्ष जमाकर्ताओं का पैसा शीघ्र वापस लौटाने का भरोसा दिया था। लेकिन छह माह बाद भी जमाकर्ताओं को पैसा नहीं मिला है।

परेशान एजेंटों ने सोमवार को कलक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जमा धनराशि नहीं मिलने से एजेंट और उनके परिवार आर्थिक और मानसिक दबाव में हैं।

धनराशि जमा करने वाले लोग आए दिन घर पर दस्तक दे रहे हैं। एजेंटों ने जमा धनराशि वापस दिलाए जाने की मांग करते हुए कहा कि धनराशि नहीं मिली तो वह उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे।

प्रदर्शन करने वालों में गोविंद प्रसाद, सुरेश पांडेय, जानकी पांडेय, जगदीश जोशी, नंदा देवी, मोहनी उपाध्याय, गीता बिष्ट, गीता खर्कवाल, कैलाश पांडे, मंजू चंद, लीलाधर पाल, रवीश ग्वाल, लक्ष्मी दत्त जोशी, किशोर मिश्रा, गोविंद ऐरी, मनोज जोशी, मंजू ज्येष्ठा, निमल पांडे, माधवी देवी, होशियार सिंह आदि शामिल थे। प्रदर्शन के बाद जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया।

विशेष