बागेश्वर

प्रवासियों को जिला और तहसील स्तर पर क्वारंटाइन करने की मांग, मांग पूरी न होने पर प्रधान देंगे सामूहिक इस्तीफा

बागेश्वर: प्रधानों ने बाहरी राज्यों से आ रहे प्रवासियों को जिला और तहसील स्तर पर क्वारंटाइन करने की मांग की है। मांग पूरी न होने पर वे सामूहिक इस्तीफा दे देंगे।सोमवार को जिले के प्रधान शारीरिक दूरी बनाते हुए डीएम कार्यालय धमक गए। जिलाधिकारी से चैंबर से बाहर आने को लेकर घंटों अड़े रहे। डीएम ने सभी प्रधानों को मिटिग हॉल में बैठने का जवाब भेजा। उसके बाद डीएम ने वहां पहुंची और प्रधानों से बातचीत की। प्रधानों ने डीएम से दो टूक शब्दों में कहा कि बाहरी प्रदेशों से आने वाले प्रवासियों को जिला और तहसील स्तर पर क्वारंटाइन किया जाए। प्रशासन उनकी निगरानी करे और प्रधानों को जिम्मेदारी से मुक्त रखा जाए। प्रधान सेवाभाव के तौर पर उनकी अप्रत्यक्ष रूप मदद को तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि यदि क्वारंटाइन गांवों में किया गया तो वे सामूहिक इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने बीस मई तक यह व्यवस्था बनाने की मांग की है। इस मौके पर प्रधान केदार महर, हिमांशु खाती, हरीश सिंह, बसंती देवी, मीना देवी, पूजा देवी, रमा बिष्ट, विमला देवी, पुष्पा देवी, विरेंद्र सिंह, नवीन चंद्र, दयाकृष्ण, सीमा देवी, गीता देवी, सरिता देवी, पूनम देवी, मंजू बोरा, कविता देवी, अंजू, हेमा देवी, अर्जुन, उमेश राम, स्वाति देवी, शकुंतला थापा आदि मौजूद थे।