राष्ट्रीय

Delhi: कोरोना के कारण प्रभावित रहीं AIIMS की सुविधाएं, मौतें डेढ़ गुना बढ़ीं

कोरोना महामारी (Covid-19) ने देश के सबसे बड़े अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में इलाज की सुविधाओं को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है. कोविड-19 के कारण मरीजों की मौत डेढ़ गुना तक बढ़ गई है यानि डेथ रेट 1.7 प्रतिशत से बढ़कर 3 प्रतिशत तक पहुंच गया है. जो अब तक का सबसे ज्यादा है. जबकि 28 लाख से ज्यादा ओपीडी (OPD) में मरीज कम हो गए हैं. 1 लाख 27 हजार एडमिशन कम हुए है और 1 लाख 28 हजार से ज्यादा सर्जरी कम हुईं हैं. संक्रमण दर में 3.3 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है और यह 8.9 प्रतिशत तक पहुंच गई है. एम्स के कार्डियक थोरासिक और न्यूरोसाइंस सेंटर में डेथ रेट 6.9 प्रतिशत दर्ज हुआ है. साल 2019-20 में डेथ रेट 2.6 प्रतिशत था. इसी प्रकार ट्रॉमा सेंटर में डेथ रेट 5 प्रतिशत से बढ़कर 9 प्रतिशत हो गया है.

एम्स में हर साल ओपीडी में मरीजों के इलाज का नया रिकॉर्ड बनाता था, लेकिन कोरोना काल की वजह से एम्स की इलाज व्यवस्था इस कदर प्रभावित हुई है कि न केवल ओपीडी, बल्कि एडमिशन, सर्जरी में भारी कमी दर्ज हुई है. साल 2019-20 में एम्स की ओपीडी में 44,14,490 मरीजों को इलाज मिला था, जो आंकड़ा इस बार कम होकर सिर्फ 15,42,854 रह गया है. 

इस साल एडमिशन भी कम हुए

2019-20 में एम्स में 2लाख 1 हजार 144 सर्जरी की गई थीं, लेकिन इस बार यह संख्या कम होकर सिर्फ 72,737 दर्ज हुई है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना की वजह से अस्पताल बंद रहने के कारण सर्जरी की संख्या कम रही. यही नहीं, एक्सपर्ट्स का यह भी कहना है कि एम्स में सर्जरी के लिए पहले से दो-तीन साल तक की वेटिंग है. ऐसे में सवा लाख से अधिक सर्जरी नहीं होने की वजह से यह पेंडिंग और बढ़ गई. इसका असर यह हुआ कि इस बार एडमिशन भी कम हुए है. पिछले साल 2 लाख 68 हजार 144 एडमिशन हुए थे जो इस बार 1 लाख 40 हजार 962 ही रह गए है.

डेथ रेट भी बढ़ा

साल 2019-20 और 2020-21 के बीच भर्ती मरीजों की मृत्युदर 1.7 से बढ़कर 3 फीसदी तक पहुंच गई है. एम्स के कार्डियो और न्यूरो सेंटर में यह मृत्युदर 2.6 से 6.9 फीसदी यानी करीब तीन गुना बढ़ी है. एम्स के ट्रॉमा सेंटर में नौ फीसदी मरीजों की मौत हुई है. इसी ट्रॉमा सेंटर में कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार भी चल रहा था. अस्पताल में संक्रमण 5.6 से बढ़कर 8.9 फीसदी तक पहुंचा है.

Leave a Response