देश/प्रदेश

देहरादूनः हाउस टैक्स में गड़बड़ी करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई, नगर निगम ने ड्रोन से शुरू किया असेसमेंट

देहरादून: दून नगर निगम वित्तीय साल खत्म होने से पहले कमर्शियल हॉउस टैक्स वसूलने में तेजी ला रहा है. कमर्शियल हॉउस टैक्स वसूली को लेकर निगम पिछले एक महीने से लगातार प्रतिष्ठानों और निजी संस्थानों को नोटिस भेज रहा है, लेकिन अब नगर निगम ने कमर्शियल हाउस टैक्स से बचे हुए हुए लोगों पर ड्रोन से निगरानी रखनी शुरू कर दी है.

ड्रोन के जरिए निजी भवनों और सरकारी सहित गैर सरकारी प्रतिष्ठानों के एरिया और टैक्स का असेसमेंट कराया जाएगा. शहर में कई प्रतिष्ठानों और निजी संस्थानों ने नगर निगम में अपनी कम कॉरपेट एरिया की जानकारी दे रखी थी, जिसके चलते निगम को हाईटेक तकनीक का सहारा लेना पड़ रहा है.

नगर निगम ने पिछले दिनों आईएसबीटी, सिटी जंक्शन मॉल, दून स्कूल, कलेक्ट्रेट, सिडकुल, सेंट जोजेफ, राज्य कर विभाग, विजिलेंस मुख्यालय, वन मंत्रालय, दून अस्पताल सहित कई निजी प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी किए हैं. कई निजी प्रतिष्ठानों और संस्थानों ने टैक्स का असेसमेंट भी कराया है.

साथ ही कुछ ने गलत असेसमेंट कर दिया है. नगर निगम के पास प्रतिष्ठानों का क्षेत्रफल और पूरी जानकारी नहीं है, उन्हें टैक्स असेसमेंट के लिए कहा जा रहा है. वहीं, नगर निगम प्रतिष्ठानों को सीधे नोटिस भेज रहा है. साथ ही जिन्होंने गलत असेसमेंट दी है, उन पर नगर निगम द्वारा हाईटेक तकनीक के साथ जांच कराई जा रही है.

नगर आयुक्त विनय शंकर पांडे ने बताया कि प्रतिष्ठानों और संस्थानों का ड्रोन के जरिये असेसमेंट शुरू किया जाएगा. इसके लिए डिजिटल टीम को काम सौंपा जाएगा, जो हाईटेक उपकरणों के जरिए बाहर से ही प्रतिष्ठानों का असेसमेंट करेगी. साथ ही जिन प्रतिष्ठानों और संस्थानों ने टैक्स दे दिया है, उनकी भी दोनों से फोटो निकाली जाएगी, अगर असेसमेंट में गड़बड़ी पाई गई तो ऐसे प्रतिष्ठानों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

विशेष