देश/प्रदेश

सात फरवरी तक तैयार हो जाएगा देहरादून का रेलवे स्टेशन

देहरादून,  देहरादून रेलवे स्टेशन पर चल रहे देहरादून यार्ड रिमॉडलिंग कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निमार्ण अनिल कुमार लोहाटी ने कहा कि तय समय सीमा के भीतर आधुनिक स्टेशन तैयार हो जाएगा। कार्य पूरा होने के बाद अब यहां 18 डिब्बों की ट्रेनें आ सकेंगी। उन्होंने अभी तक के कार्य को देखकर संतुष्टि जाहिर की।

देहरादून रेलवे स्टेशन पर 10 नवंबर से सात फरवरी तक यार्ड रिमॉडलिंग कार्य चल रहा है। इसका निरीक्षण करने के लिए एडीआरएम मुरादाबाद मंडल मान सिंह मीना व मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निमार्ण) अनिल कुमार लोहाटी पहुंचे।

इस दौरान उन्होंने स्टेशन के एक छोर से दूसरे छोर तक हुए काम का बारीकी से जायजा लिया और इंजीनियरों को जरूरी निर्देश दिए।

निरीक्षण के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि तय समय सीमा (सात फरवरी) तक देहरादून का स्टेशन आधुनिक रूप में जनता के लिए तैयार हो जाएगा।

कहा कि अभी तक दून स्टेशन पर ब्रिटिश काल की झलक दिखती थी, क्योंकि इसका निमार्ण अंग्रेजों द्वारा किया गया था,

लेकिन इस कार्य के बाद स्टेशन पर भारतीयता की झलक दिखाई देगी। उन्होंने कहा कि अभी तक देहरादून स्टेशन पर प्लेटफार्म की लंबाई कम होने की वजह से 18 डिब्बों की ट्रेन नहीं आ पाती थी, लेकिन यार्ड रिमॉडलिंग कार्य में सभी प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ाई जा रही है, जिसके बाद यहां 18 डिब्बों की ट्रेनें आसानी से आ-जा सकेंगी।

उन्होंने रिमॉडलिंग कार्य की तारीफ करते हुए कहा कि अभी तक कार्य अपनी गति बनाए हुए है। इससे तय समय सीमा में कार्य पूर्ण हो जाएगा। इसके अलावा उन्होंने इंजीनियर व अधिकारियों को निमार्ण में और तेजी, यात्री सुविधा संबंधित कार्य, पानी निकासी की प्लानिंग व गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं।

इस मौके पर स्टेशन निदेशक गणेश चंद ठाकुर, स्टेशन अधीक्षक एसडी डोभाल, सीएमआइ एसके अग्रवाल, विवेक घई, मुख्य अभियंता अजीत कुमार झा, उप मुख्य अभियंता अतुल गुप्ता, सहायक अभियंता सुधीर कुमार व रवि प्रकाश समेत अन्य मौजूद रहे।

देहरादून रेलवे स्टेशन पर चल रहे यार्ड रिमॉडलिंग कार्य का निरीक्षण करने के दौरान एडीआरएम मान सिंह मीणा ने कहा कि स्टेशन के री-डेवलपमेंट कार्य में मसूरी बस स्टैंड व लक्खीबाग पुलिस चौकी आड़े नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि अभी तक इन्हें हटाने के लिए कोई प्रस्ताव नहीं है। स्टेशन के री-डेवलपमेंट कार्य के लिए रेलवे के पास पर्याप्त भूमि है। उसी पर कार्य किया जाएगा।

विशेष