उत्तराखंड

भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं, दोषी अधिकारियों पर होगी कड़ी कार्यवाही -सुबोध उनियाल

देहरादून: जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली धामी सरकार ने भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई करने की कवायद शुरू कर चुकी है. बीते दिन जहां आईएफएस किशन चंद (IFS Kishan Chand) पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप पर विजिलेंस टीम चार्टशीट दाखिल करने जा रही है. इसके साथ ही किशन चंद के वीआरएस पर भी रोक लगा दी है. वहीं, वन विभाग के दो और आईएसएस अधिकारियों पर भी जल्द ही कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू होने वाली है.

वन मंत्री सुबोध उनियाल (Forest Minister Subodh Uniyal) ने कहा कि विभाग के दो अधिकारियों, जिस पर जांच के लिए कहा गया है उनके अनिवार्य वीआरएस की पत्रावली मिली थी, जिसपर मुख्यमंत्री को अनुमोदन के लिए कहा गया है. मुख्यमंत्री का अनुमोदन मिलते ही बड़ी कार्रवाई शुरू हो जाएगी. मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा है कि जो अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और वीआरएस लेना चाहते हैं, उनके वीआरएस को भी रद्द करने का निर्णय लिया गया है.

बता दें, आईएफएस अधिकारी किशन चंद के खिलाफ विजिलेंस जांच की संस्तुति राज्य सरकार ने दी है. जिस पर केंद्र को अंतिम निर्णय लेना है. साथ ही राज्य सरकार वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी पर कार्रवाई की तैयारी कर रही है, जिस पर भी अंतिम निर्णय जल्द ही लिया जा सकता है.

Leave a Response