राष्ट्रीय

पंचायत घर से अलग हुई खुली बैठक पर विवाद

बाजपुर : ग्राम पंचायत मुड़िया कलां की खुली बैठक का कुछ ग्रामीणों ने इस बात पर विरोध कर दिया कि यह पंचायत घर से अलग हो रही है। मामले में नौबत हाथापाई तक जा पहुंची। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया।

बुधवार को गांव में ही सार्वजनिक स्थान पर बुलाई गई खुली बैठक में विकास प्रस्तावों पर चर्चा हुई। इसी बीच बैठक में पहुंचे गांव के ही शमशाद, डॉ. फिरासत आदि ने यह कह विरोध शुरू कर दिया कि बैठक पंचायत घर मे नहीं हो रही है।

प्रधान पक्ष के लियाकत अली आदि की उनसे नोकझोंक भी हो गई तथा नौबत हाथापाई तक जा पहुंची। सूचना मिलने पर एसएसआइ महेश कांडपाल भी फोर्स के मौके पर पहुंचे, जिन्होंने किसी तरह मामला शांत कराया। घटना के चलते वहां काफी देर तक अफरातफरी का माहौल बना रहा।

बैठक में पारित कई प्रस्ताव

ग्राम प्रधान नेहा परवीन की अध्यक्षता में हुई खुली बैठक में कई प्रस्ताव पारित किए गए। पंचायत सेक्रेटरी मीनू आर्या ने बताया कि बैठक में वृद्धा, विधवा व दिव्यांग पेंशन के 30 आवेदन प्राप्त हुए। इसके अलावा सीसी मार्ग निर्माण को 20, नाली निर्माण को 13, हैंडपंप लगवाने के लिए 18 प्रस्ताव पारित किए गए।

पंचायत क्षेत्र अंतर्गत स्थापित दुकानों से 50 रुपये प्रतिमाह व राइस मिल, स्कूल, हॉस्पिटल आदि से 500 रुपये प्रतिमाह कर वसूलने तथा पंचायत घर की बाउंड्रीवाल व गेट लगवाने से संबंधित प्रस्ताव भी पारित किए गए। इस मौके पर ग्राम सदस्य साजिद अली, रजिया, शगुफ्ता, शुवम, गुलफिजा, सोनू, बीडीसी सदस्य गुलशन के साथ ही पूर्व प्रधान लियाकत अली, अहसान अली ठेकेदार, अमीर खान, परवेज शेख आदि मौजूद थे।

विशेष