राष्ट्रीय

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत और शशि थरूर के बीच मुकाबला

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की तस्वीर धीरे-धीरे साफ होती दिख रही है. राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के लिए एक के बाद एक राज्य प्रस्ताव पास कर रहे हैं, लेकिन राहुल अपना पत्ता नहीं खोल रहे हैं. ऐसे में कांग्रेस के दो दिग्गज नेता पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनावी ताल ठोक सकते हैं. सोनिया गांधी से मुलाकात कर शशि थरूर ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अपनी दावेदारी पेश कर दी है तो राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उन्हें चुनौती देने का मन बना लिया है. इस तरह से कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव बेहद रोमांचक हो सकता है तो दो दशक बाद कांग्रेस को गांधी परिवार से बाहर का कोई अध्यक्ष मिल सकता है.

केरल से कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. इस दौरान सोनिया गांधी ने शशि थरूर से कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में पूरी तरह तटस्थ रहेंगी. इसके बाद ही अशोक गहलोत के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने और 26 सितंबर को अपना नामांकन दाखिल करने की चर्चा तेज हो गई. इस तरह से शशि थरूर बनाम अशोक गहलोत के बीच महज सियासी जंग नहीं होगी बल्कि यह जी-23 बनाम गांधी परिवार के करीबी के बीच मुकाबला होगा?

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनावी हलचल के बीच ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के तहत राहुल गांधी करीब 200 किलोमीटर का सफर तय कर चुके हैं. केरल से राहुल आगे बढ़ रहे हैं और हर दिन 20 से 22 किलोमीटर पैदल चलकर सियासी नब्ज की थाह ले रहे हैं तो दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए सियासी तानाबाना बुना जा रहा है. कांग्रेस की कई राज्य इकाइयां राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के पक्ष में प्रस्ताव पास कर चुकी हैं, लेकिन राहुल अपने स्टैंड पर कामय हैं. कह चुके हैं कि वह फिर से पार्टी अध्यक्ष नहीं बनना चाहते.

Leave a Response