देश/प्रदेश

टिहरी डैम को बेचे जाने पर कांग्रेसियों में रोष

कोटद्वारः ऐतिहासिक टिहरी डैम को निजी हाथों में बेचे जाने के खिलाफ कांग्रेसियों ने सड़क से लेकर सदन तक विरोध करने की योजना बनाई है.

जिसे लेकर कांग्रेस 27 नवंबर को प्रदेश के हर जिले में केंद्र और राज्य सरकार का पुतला दहन करेगी. जबकि, आगामी 2 दिसंबर को प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में टिहरी के भागीरथीपुरम में विशाल धरना प्रदर्शन करने जा रही है.

केंद्र सरकार की ओर से टिहरी डैम को निजी हाथों में बेचे जाने पर कांग्रेसियों में रोष है. कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि टिहरी डैम को निजी हाथों में बेचे जाने के मामले में जो मोदी सरकार ने कैबिनेट में निर्णय लिया है,

उसका कांग्रेस प्रदेश से लेकर देश भर में विरोध कर रही है. इसके तहत 27 नवंबर को प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में राज्य के प्रत्येक जिला मुख्यालय में कांग्रेस के कार्यकर्ता राज्य सरकार और केंद्र सरकार का पुतला दहन करेंगे.

जिसके बाद 2 दिसंबर को ‘टिहरी चलो’ के नारे के साथ प्रदेश के शीर्ष नेता, नेता प्रतिपक्ष और हरीश रावत समेत किशोर उपाध्याय की मौजूदगी में भागीरथीपुरम में टीएचडीसी के दफ्तर के आगे एक विशाल धरना प्रदर्शन किया जाएगा.

जबकि, 4 दिसंबर से होने जा रही विधानसभा सत्र के सदन में कांग्रेस इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाएगी. सत्र खत्म होने के बाद पूरे प्रदेश में व्यापक आंदोलन किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि टिहरी डैम के मुद्दे पर कांग्रेस चुप नहीं रहेगी. टिहरी के लोगों ने देश के विकास के लिए अपना घर, अपना शहर समेत पूरी संस्कृति दांव पर लगा दी थी,

लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, टिहरी का नाम खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं. जिससे उत्तराखंड समेत टिहरी वासियों के आत्मसम्मान को ठेस पहुंची है.

विशेष