देश/प्रदेश

कांग्रेस ने टीएचडीसी विनिवेश पर सरकार के खिलाफ बोला हल्ला

देहरादून,टीएचडीसी के विनिवेश के विरोध में महानगर कांग्रेस ने प्रदर्शन कर एस्लेहॉल चौक पर केंद्र व राज्य सरकार का पुतला दहन किया। कांग्रेसियों ने भाजपा सरकार पर पिछले पांच सालों में लाखों लोगों को बेरोजगार करने का आरोप भी लगाया।

प्रदर्शन के दौरान महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने अपने 70 वर्ष के कार्यकाल में जिन संस्थानों की स्थापना कर देश को समृद्ध बनाया। आज उन संस्थानों को केंद्र सरकार या तो बंद कर रही है या निजी क्षेत्र में बेच रही है। इससे इनमें कार्यरत हजारों कर्मचारी बेरोजगार हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की इस नीति को किसी भी परिस्थिति में जनहित में सही नहीं ठहराया जा सकता है। केंद्र सरकार द्वारा भारत संचार निगम लिमिटेड में वर्षों से कार्यरत कर्मचारियों को जबरन वीआरएस लेने के लिए मजबूर किया जा रहा है। एयर इंडिया व बीपीसीएल को बंद करने की बात की जा रही है, यह देश को वर्षों पीछे धकेलने की साजिश है।

उन्होंने कहा कि दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा करने वाली मोदी सरकार ने अपने पिछले पांच साल में लाखों लोगों की नौकरियां छीन ली हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस केंद्र व राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध करती है। इसके लिए सदन से लेकर सड़क तक आंदोलन करेगी।

पुतला दहन करने वालों में प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, पूर्व विधायक राजकुमार, महामंत्री गोदावरी थापली, जिला पंचायत सदस्य अश्वनी बहुगुणा, डॉ. आरपी रतूड़ी, अजय सिंह, राजपाल बिष्ट आदि शामिल रहे।

महंगाई के विरोध में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने विकासनगर तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन कर धरना दिया। प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार पर जन विरोधी होने के आरोप लगाते हुए कहा कि महंगाई के बढ़ते असर व रोजगार के कम होते साधनों के कारण जनता परेशान है।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष संजय किशोर के नेतृत्व में तहसील पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण महंगाई व आर्थिक मंदी के चलते रोजगार पर भी नकारात्मक असर पड़ रहा है। हर साल हजारों-लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हो रहे हैं। इसके अलावा प्याज, दाल, सब्जी आदि की आसमान छूती कीमतों के कारण जनता परेशान है। कार्यकर्ताओं ने मांग को लेकर एसडीएम कौस्तुभ मिश्र के जरिये राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा।

विशेष