Latest Newsउत्तराखंड

विधानसभा चुनाव में हार के कारणों के लिए कांग्रेस नेता करेंगे मंथन

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव ( uttarakhand assembly elections) में हार के कारणों की समीक्षा के लिए कांग्रेस (Congress) के नेता देहरादून में दो दिन की बैठक करेंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ केंद्रीय पर्यवेक्षक अविनाश पांडेय की अध्यक्षता में 21 मार्च से दो दिवसीय समीक्षा बैठक देहरादून में होगी. इस बैठक में हार के कारणों की समीक्षा करने के साथ ही कांग्रेस विधायक दल के नए प्रमुख और नेता पर भी फैसला किया जाएगा. फिलहाल कांग्रेस आलाकमान राज्य में लगातार दूसरे विधानसभा चुनाव में हार से हैरान है और उसने लोकसभा क्षेत्रवार विधानसभा सीटों पर मिली हार की समीक्षा करने का फैसला किया गया है. इस बैठक में कांग्रेस के राज्य संगठन के सभी बड़े नेता मौजूद रहेंगे.

उत्तराखंड में कांग्रेस को लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा है. हालांकि पिछले चुनाव की तुलना में पार्टी के विधायकों की संख्या में इजाफा हुआ है. लेकिन पार्टी के ज्यादातर दिग्गज नेता चुनाव हार गए हैं. राज्य में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार हरीश रावत के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल को हार का सामना करना पड़ा है. जिसको लेकर पार्टी असहज की स्थिति में है. फिलहाल पांचवीं विधानसभा के चुनाव में मिली बड़ी हार ने कांग्रेस को नए सिरे से सोचने पर मजबूर कर दिया है. कांग्रेस को डर है कि राज्य के विधानसभा चुनाव का असर 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भी देखने को मिल सकता है. लिहाजा अभी से इसके लिए सख्त फैसले करने होंगे.

संगठन को मजबूत करने पर होगा जोर

दरअसल राज्य में कांग्रेस आलाकमान के लिए अब यह चिंता का बड़ा कारण दिग्गज नेताओं का आमने-सामने होना है. राज्य में हार के बाद गुटबाजी तेज हो गई है और नेता एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं. जिसके कारण जनता में पार्टी को गलत संदेश जा रहा है. लिहाजा कांग्रेस आलाकमान नेताओं में गुटबाजी को खत्म करने के साथ ही प्रदेश में संगठन को नए सिरे से मजबूत करने की तैयारी कर रहा है. कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री अविनाश पांडे को इसी रणनीति को ध्यान में रखकर राज्य में तैना किया गया है.

21 और 22 मार्च को होगी समीक्षा बैठक

राज्य में हार के बाद कांग्रेस पार्टी 21 और 22 मार्च को देहरादून में समीक्षा बैठक करेगी. पांच लोकसभा क्षेत्रों में विधानसभा क्षेत्रवार प्रदर्शन के आधार पर समीक्षा की जाएगी. जानकारी के मुताबिक पौड़ी और अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र की सभी 28 विधानसभा सीटों की समीक्षा 21 मार्च और नैनीताल, हरिद्वार और टिहरी लोकसभा क्षेत्र की सभी 42 विधानसभा सीटों की समीक्षा 22 मार्च को की जाएगी.

Leave a Response