नेतागिरी

प्रियंका गांधी की 9 जनवरी की रैली के बाद होगा कांग्रेस के उम्मीदवारों पर फैसला

उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) के मद्देनजर टिकट को लेकर तमाम सियासी दलों में माथाचप्पी चल रही है. इसी कड़ी में कांग्रेस उम्मीदवारों के नाम की घोषणा (Congress Candidate List) फिलहाल एक हफ्ते के लिए टल गई. इस बीच पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की श्रीनगर और अल्मोड़ा में रैली प्रस्तावित (Priyanka Gandhi Uttarakhand Tour) है ऐसे में माना जा रहा है कि इसके बाद ही उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगेगी.

प्रियंका गांधी 9 जनवरी को श्रीनगर (गढ़वाल) एवं अल्मोड़ा में जनसभा को संबोधित करने वाली हैं. इस मामले में 4 जनवरी को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय देहरादून में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की उपस्थिति में आवश्यक बैठक आयोजित होगी.

रैली के बाद होगी स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक

वहीं सोमवार को दिल्ली में कांग्रेस के वॉर रूम में दोपहर के बाद स्क्रीनिंग कमेटी से जुड़े सभी नेता जुटे. जहां विवाद वाले विधानसभा क्षेत्रों के दावेदारों पर माथापच्ची की. वहीं पार्टी की स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक प्रियंका गांधी के दौरे के चलते फिलहाल के लिए टाल दी गई है. अब रैली के बाद ही स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक करने का फैसला लिया है.

थीम सॉन्ग के जरिए BJP पर हमला

वहीं सोमवार को दिल्ली में पार्टी ने चुनाव के लिए अपना थीम सॉन्ग लॉन्च किया. 2 मिनट 48 सेकंड के इस थीम सॉन्ग के बोल- ‘तीन तिगाड़ा काम बिगड़ा, भाजपा नहीं आएगी दोबारा’ है. जिसमें बीजेपी सरकार पर बेरोजगारी, महंगाई और चुनावी वादों को लेकर निशाना साधा गया है. इस सॉन्ग की लॉन्चिंग पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि जिस डबल इंजन गवर्नेंस की मोदी जी बात कहते थे उसका फेलियर उन्होंने एक्सेप्ट किया है तीन मुख्यमंत्रियों को बदलकर. ये संसदीय परंपराओं का अपमान था लेकिन उत्तराखंड की जनता को कारण भी नहीं बताया गया. कुम्भ पर हम सबको गर्व है. लेकिन ये बहुत ही चिंता का विषय है कि भाजपा के फेलियर के कारण उत्तराखंड में हुए कुंभ को कोविड का कंट्रीब्यूटर माना गया.

Leave a Response