देश/प्रदेश

संविधान दिवस पर हुआ गोष्ठी का आयोजन

बेरीनाग: संविधान दिवस के अवसर पर हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल (केंद्रीय) विवि के पौड़ी परिसर में एक दिवसीय गोष्ठी का आयोजन किया गया.

वहीं, बेरीनाग के राजकीय महाविद्यालय में गोष्ठी का आयोजन कर संविधान के महत्व और उपयोगिता के बारे में बताया गया.

इस गोष्ठी में विधि विभाग के छात्र-छात्राओं समेत सभी विभागों के बच्चों ने प्रतिभाग किया. साथ ही लोगों को संविधान दिवस पर अपने अधिकारों के प्रति जागरुक रहने की बात कही.

कार्यक्रम में वक्ताओं ने बताया कि जनता अपने अधिकारों के प्रति जागरुक हैं, लेकिन संविधान ने देशवासियों को जो दायित्व दिए हैं.

उनके निर्वहन से अपने हाथ पीछे कर लिए हैं. विधि विभाग के विभागाध्यक्ष ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि विधि विभाग के छात्र छात्राओं को पढ़ाई के दौरान इसकी पूरी जानकारी मिल रही है.

लेकिन अन्य विभाग में पढ़ रहे बच्चों को इन कार्यक्रमों के दौरान संविधान के महत्व और संविधान में कर्तव्यों की जानकारी भी देता है.

पौड़ी परिसर में संविधान दिवस के अवसर पर आयोजित गोष्ठी में मौजूद सभी लोगों को भारत के संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई गई. मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे सिविल जज सीनियर डिवीजन संदीप कुमार ने बताया कि संविधान की शुरुआत हम शब्द से हुई है संविधान हमारा है.

उन्होंने कहा कि संविधान में हर सवाल का जवाब है और संविधान सर्वोपरि है. साल 2015 में भारत सरकार की ओर से अध्यादेश पारित किया गया था कि हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाएगा, जिससे जो भी अधिकार संविधान हमे देता है, हम उसके प्रति जागरुक रहें.

विशेष