ताजा खबरेंविविध

हाउसिंग प्रोजेक्ट में 5 करोड़ की ठगी मामले में कंपनी डारेक्टर हुआ गिरफ्तार

गाजियाबाद: आवास परियोजना में निवेश का झांसा देकर करोड़ों की ठगी करने वाले एसोटेक कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर संजीव श्रीवास्तव को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार कर लिया है. संजीव ने एक शख्स से पांच करोड़ रुपये की ठगी की थी. आरोपित ने उस सख्स से गाजियाबाद स्थित प्रोजेक्ट के नाम पर रुपये लिए थे.

बता दें कि संजीव अलग-अलग 40 फर्जी कंपनियां बनाकर लोगों को चूना लगा रहा था. आरोपित पर ठगी के कुल आठ मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस फिलहाल मामले की छानबीन कर रही है. इस मामले पर बात करते हुए ज्वाइंट कमिश्नर (EOW) ओपी मिश्रा ने कहा, “अधिक से अधिक पैसे जुटाने के लिए एसोटेक कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक संजीव श्रीवास्तव ने नई परियोजनाओं की शुरुआत की और एक परियोजना से जुटाई गई पैसों का अन्य परियोजनाओं में उपयोग किया.”

प्रोजेक्ट के तहत 40 फ्लैट बुक किए थे

शिकायतकर्ताओं में से एक, सुधीर ने बताया कि उन्होंने एक प्रोजेक्ट के तहत 40 फ्लैट बुक किए थे, संजीव के झांसे में आकर शिकायतकर्ता ने 40 फ्लैटों के लिए पांच करोड़ से ज्यादा की राशि भी कंपनी को दे दी थी. जिन्हें बाद में कथित रूप से किसी और को दे दिया गया. पुलिस ने कहा कि आरोपी श्रीवास्तव ने कथित रूप से शिकायतकर्ता को अपने दूसरे प्रोजेक्ट में फ्लैट दिलाने का झूठा आश्वासन दिया था. शिकायतकर्ता ने अनुसार उसने जिन 40 फ्लैटो को खरीदा था उसका मूल्य भी उससे सामान्य दाम से 30 प्रतिशत ज्यादा लिया गया था. बाद में वह यह जानकर चौंक गया कि वादा किए गए प्रोजेक्ट पर निर्माण शुरू भी नहीं हुआ था. फिर उन्होंने 2016 में एक शिकायत दर्ज की जिसके आधार पर ये FIR दर्ज की गई है.

वहीं गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने जब मामले की छानबीन की तो उन्हें पता चला कि “एसोटेक कैनोपी” के नाम से अबतक किसी भी परियोजना के लिए कोई अप्रूवल नहीं दिया गया था.

विशेष