देश/प्रदेश

बागेश्वर के काफलीगैर तहसील के दर्जनों गांवों में दो सप्ताह से संचार व्यवस्था ठप

बागेश्वर: काफलीगैर तहसील के दर्जनों गांवों में दो सप्ताह से संचार व्यवस्था लड़खड़ाई हुई है। तहसील क्षेत्र के दाणोंछीना में लगा बीएसएनएल का टावर दो सप्ताह से शोपीस बना हुआ है। टावर बंद होने से खरेही, धूराफाट व रीठागाड़ क्षेत्र के दर्जनों गांवों की संचार व्यवस्था ठप हो गई है। संचार व्यवस्था ठप होने से बीएसएनएल का टावर शोपीस बनकर रह गया है। क्षेत्र के कठपुड़ियाछीना, दाणोंछीना, कभड़ा, बोहाला, नंदीगांव, रैखोली, जोशीगांव, भटखोला, नायल, उडेरखानी, असौं, पाना, तरमोली, कठानी सहित कई गांवों की संचार व्यवस्था ठप हो गई है। कई दिनों से बीएसएनएल की सेवा ठप होने से उपभोक्ताओं में रोष है।

असौं के जिला पंचायत सदस्य के नेतृत्व में ग्रामीणों ने बीएसएनएल के जेटीओ को ज्ञापन देकर टावर को सुचारू करने की मांग की। चेतावनी देते हुए जल्द टावर को सुचारू नही किए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। उन्होंने बीएसएनएल पर उपभोक्ताओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया। होली पर्व पर क्षेत्र की संचार व्यवस्था ठप होने से लोग परेशान रहे। दूरदराज प्रदेशों में नौकरी करने वाले लोग अपनों की कुलशक्षेम तक नहीं पूछ पाए। वहीं क्षेत्र में लोगों की संचार व्यवस्था ठप होने से वयोवृद्धों और गर्भवती महिलाओं को भी आपातकाल में इमरजेंसी सेवा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

जिपंस ने क्षेत्र में संचार सुविधा के अव में इमरजेंसी सेवा का लाभ नहीं मिलने की शिकायत की। इधर बीएसएनएल के जेटीओ हेमंत जोशी ने कहा कि टावर की बिजली इन दिनों कटी हुई है। इस कारण परेशानी बनी हुई है। कनेक्शन जोड़ने का प्रयास चल रहा है।

विशेष