देश/प्रदेश

दिव्यांगों को भड़काने का आरोप में नकली योगी गिरफ़्तार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हमशक्ल सुरेश ठाकुर को एक दिव्यांग आंदोलन को भड़काने के मामले में जेल भेज दिया गया है. सुरेश ठाकुर पर आरोप है कि उन्होंने दिव्यांगों के एक आंदोलन को भड़काया था.

दरअसल, लखनऊ के इको गार्डन में बड़ी संख्या में दिव्यांग अपनी मांगों को लेकर जुटे थे, प्रशासन के मुताबिक कुछ संगठनों ने सुरेश ठाकुर पर आरोप लगाया था कि योगी के हमशक्ल सरकार के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं. शिकायत के बाद पुलिस सुरेश ठाकुर को पुलिस थाना लेकर आई, जहां उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया. सुरेश ठाकुर पर भारतीय दंड संहिता की धारा 116, 107 और 151 के तहत केस दर्ज कर प्रशासन ने जेल भेजा है.

मुलायम सिंह के जन्मदिन में दिखे थे

हाल में सीएम योगी के हमशक्ल सुरेश ठाकुर ने कहा था कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव आगामी विधानसभा चुनावों से पहले फिर से मिलेंगे. बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान कई मौकों पर अखिलेश यादव के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हमशक्ल सुरेश ठाकुर दिखे थे. वो शुक्रवार को सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे थे.

सपा के करीबी हैं सुरेश ठाकुर

उस वक्त सुरेश ठाकुर ने कहा था ‘भाजपा ने EVM में धांधली के कारण लोकसभा चुनाव जीता. पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए भविष्य में मतदान बैलट पेपर के माध्यम से होना चाहिए. मैं सपा को अपना समर्थन देना जारी रखूंगा. मौजूदा सरकार लोगों के हित के लिए काम नहीं कर रही

विशेष