देश/प्रदेश

चम्पावत महोत्सव में पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, एतिहासिक धरोहरों की जमकर की तारीफ

चम्पावत: चम्पावत महोत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यहां की ऐतिहासिक धरोहरों की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि चम्पावत महोत्सव यहां की सांस्कृतिक विरासत को सहजने में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि आज ही लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अटल आयुष्मान योजना में संशोधन किया है। उन्होंने कहा कि अब अटल आयुष्मान योजना में शामिल अस्पताल में रेफर पर्ची की आवश्यकता नहीं होगी। मरीज सीधे अपना कार्ड ले जाकर उपचार करा सकते हैं। डॉक्टर उनसे सरकारी अस्पताल के रेफर पर्ची नहीं मांगेंगे।

अपने 34 मिनट के भाषण में मुख्यमंत्री ने पूरा फोकस राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर केंद्रित रखा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन रोकने के लिए सरकार गांवों में रोडों का जाल बिछा रही है। राज्य को रूरल कनेक्टिविटी में 17 आवार्ड मिल चुके हैं। राज्य में कोई भी सड़क पुलों के कारण नहीं रोकी जाएगी। ऐसे 300 पुलों के निर्माण को हरी झंडी दे दी गई है जिनके न बनने से सड़कों का निर्माण आधा अधूरा हो रहा था। ग्रामीण काश्तकारों को बाजार उपलब्ध कराने के लिए छोटे शहरों में भी सरस मार्केट की शुरुआत की गई है।

सबका साथ, सबका विश्वास और सबका विकास के लक्ष्य के साथ सरकार आगे बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 18 मार्च को उनकी सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं। सरकार इस अवधि में किए गए विकास कार्यों का खाका जनता के सामने प्रस्तुत करेगी। उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकारी धन की बर्बादी के कारण विकास कार्य नहीं हो पा रहे थे। उनकी सरकार ने जीरो टॉलरेंस के साथ पारदर्शी काम किया है। केंद्र सरकार के सहयोग से 2022 तक वह हर कार्य पूरा होगा जो विकास के लिए जरूरी है। कहा कि राज्य के प्रत्येक डिग्री कॉलेज का अपना भवन होगा। आंगनबाड़ी केंद्र भवन विहीन नहीं रहेंगे।

विशेष