नेतागिरी

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने होमगार्डों के लिए ‘पहल’ ऐप को किया लॉन्च

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को ननूरखेड़ा, देहरादून में होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस (Home Guard and Civil Defense Establishment Day) कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया. इस अवसर पर उन्होंने रैतिक परेड का निरीक्षण किया और होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा की स्मारिका का विमोचन किया. होमगार्ड जवानों के मानसिक स्वास्थ्य एवं अन्य समस्याओं के लिए बनाए गए ऐप ‘पहल’ का शुभारंभ (App PAHAL Launched) भी मुख्यमंत्री धामी ने किया.

मुख्यमंत्री धामी ने इस अवसर पर सेवा पृथक होमगार्ड कुंती देवी को होमगार्ड कल्याण कोष से एक लाख रूपए का चेक एवं ड्यूटी के दौरान मृत होमगार्ड जवान तिलक राज मौर्य की पत्नी प्रीति को होमगार्ड कल्याण कोष से 2 लाख रूपये का चेक प्रदान किया. केंद्र सरकार द्वारा कुमाऊं कमांडेंट, होमगार्ड ललित मोहन जोशी को सराहनीय सेवाओं के लिए गृह रक्षक एवं नागरिक सुरक्षा सम्मान सीएम धामी ने अपने हाथों से दिया. विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले जवानों को मुख्यमंत्री द्वारा प्रशंसा प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए.

चार घोषणाएं कीः मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस अवसर पर चार घोषणाएं की. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य के 10 जनपदों ऊधमसिंह नगर, पिथौरागढ़, चंपावत, अल्मोड़ा, बागेश्वर, चमोली, रूद्रप्रयाग, पौड़ी, उत्तरकाशी और टिहरी में होमगार्ड स्वयंसेवकों की एक-एक महिला प्लाटून (कुल संख्या 330) महिला होमगार्ड के पदों पर भर्ती की जाएगी. उत्तराखंड राज्य में एक जनपद से दूसरे जनपद की अन्तर्जनपदीय ड्यूटी तथा राज्य की सीमा के अंतर्गत निर्वाचन ड्यूटी एवं रैतिक परेड में तैनात होने वाले होमगार्ड स्वयंसेवकों को 180 रुपए प्रतिदिन, प्रति होमगार्ड भोजन भत्ता प्रदान किया जाएगा.

घायल होमगार्ड को ड्यूटी भत्ताः होमगार्ड ड्यूटी के 24 घंटे के भीतर घायल/बीमार होने वाले होमगार्ड स्वयंसेवकों को पूरे सेवाकाल में चिकित्सालय में भर्ती होने पर अधिकतम 6 माह तक ड्यूटी भत्ता प्रदान किया जाएगा. अवैतनिक प्लाटून कमांडर का मानदेय 1000 रूपये से बढ़ाकर 1500 रूपए प्रतिमाह, अवैतनिक सहायक कंपनी कमांडर का मानदेय 1200 रूपए से बढ़ाकर 2000 रूपए प्रतिमाह तथा अवैतनिक कंपनी कमांडर का मानदेय 1500 रूपये से बढ़ाकर 2500 रुपए प्रतिमाह दिया जाएगा.

कानून व्यवस्था पर महत्वपूर्ण योगदानः मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राष्ट्रसेवा का अद्वितीय उदाहरण अगर कहीं स्पष्ट देखने को मिलता है तो वह हमारे जवानों के बीच आकर ही देखने को मिलता है. उन्होंने कहा कि परेड में जवानों द्वारा मोटरबाइक पर जो साहस, कौशल एवं संतुलन का प्रदर्शन किया वो सराहनीय था. होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा का राज्य में कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने में भी महत्वपूर्ण योगदान है. कड़ी धूप में यातायात एवं सुरक्षा व्यवस्था को जिस तरह हमारे ये जवान नियंत्रित करते हैं, वह सराहनीय है. कोविड महामारी के दौरान होमगार्ड जवानों ने जिस निष्काम सेवा से अपने कर्तव्य का निर्वहन किया, वह सबके लिए अनुकरणीय है.

प्रोजेक्ट पार्क वैल योजना की शुरुआतः मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार होमगार्ड्स के जवानों को हर प्रकार का सहयोग देने के लिए तत्पर है. होमगार्ड्स जवानों के एसएलआर प्रशिक्षण हेतु दस हजार कारतूस क्रय किए गए हैं. राज्य सरकार ने अपने इन जवानों की सुविधा के लिए छोटे हथियारों जैसे पिस्टल आदि के क्रय किए जाने हेतु भी स्वीकृति प्रदान की गई है. यातायात को बेहतर बनाए जाने के उद्देश्य से विभाग ने इस वर्ष जो “प्रोजेक्ट पार्क वैल” योजना की शुरुआत की है, इसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं.

धुलाई भत्ता दिया जाएगाः होमगार्ड स्वयंसेवकों के लंबित कल्याण कोष के प्रकरणों के निस्तारण हेतु सावधि जमा धनराशि के संपूर्ण उपयोग की अनुमति भी प्रदान की है. जून 2022 से होमगार्ड स्वयंसेवकों को महंगाई भत्ता एवं जुलाई 2022 से धुलाई भत्ता भी प्रदान किया जा रहा है. राज्य सरकार ने अप्रैल 2017 से एरियर के भुगतान किए जाने हेतु अनुपूरक बजट में 101 करोड़ रुपए का अलग से प्रावधान किया है. उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में होमगार्ड्स तथा नागरिक सुरक्षा संगठन के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी उत्तराखंड राज्य के विकास तथा कानून व्यवस्था एवं शांति स्थापना के कार्यों में अपना महत्वपूर्ण सहयोग इसी प्रकार प्रदान करते रहेंगे.

Leave a Response