देश/प्रदेश

चीन ने भी इंसानों पर शुरू किया कोरोना वायरस वैक्‍सीन का टेस्‍ट

बीजिंग, रायटर। चीन ने भी कोरोना वायरस (COVID19) वैक्‍सीन पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया है। रायटर के मुताबिक, वहां एक प्रयोगात्मक कोरोनो वायरस वैक्सीन के मानव सुरक्षा परीक्षण शुरू करने के लिए शोधकर्ताओं को अनुमति दे दी है। उधर, अमेरिका ने सोमवार को कोरोना वायरस वैक्‍सीन का परीक्षण शुरू कर दिया, जिसके बाद राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि परिणाम अच्‍छे हैं। बता दें कि चीन के वुमान से अन्‍य देशों में फैले कोरोना वायरस से अब तक 7000 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

बता दें कि अभी तक कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कोई दवा नहीं खोजी गई है। यहीं वजह है कि इस जानलेवा वायरस से मरनेवालों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है और यह तेजी से फैल रहा है। खबरें आई थी कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को एचआइवी के पीडि़तों को दी जाने वाली दवा खिलाई जा रही है। हालांकि, इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई।

अमेरिका ने सोमवार को बताया कि उन्‍होंने कोरोना वायरस की वैक्‍सीन पर काम शुरू कर दिया है। वैक्‍सीन का शुरुआती टेस्‍ट 4 लोगों पर किया जा रहा है। डोनाल्‍ड ट्रंप ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि वैक्‍सीन की पहली खुराक दे दी गई और इसके अच्‍छे परिणाम देखने को मिल रहे हैं। साथ ही उन्‍होंने बताया कि कोरोना वायरस की वैक्‍सीन इतिहास में सबसे कम समय में तैयार होने जा रही है। अमेरिका में कोरोना वायरस से 6 हजार से ज्‍यादा लोग संक्रमित हैं और 109 लोगों की जान जा चुकी है।

कोरोना वायरस की वैक्‍सीन का परीक्षण अभी शुरुआती स्‍तर पर है। ऐसे में इसको तैयार होने में अभी कुछ महीनों का समय लग सकता है। कोरोना वायरस अब तक 160 से ज्‍यादा देशों को अपनी गिरफ्त में ले चुका है। आने वाले दिनों में हालात और खराब होने की आशंका है। भारत में 147 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। भारत में अभी तक 3 लोगों की जान कोरोना वायरस से जा चुकी है और 14 लोग अभी तक ठीक हो चुके हैं।

विशेष