देश/प्रदेश

मुख्य शिक्षाधिकारी अल्मोड़ा रिश्वत लेते पकड़े गए

अल्मोड़ा: हल्द्वानी से पहुंची विजिलेंस टीम ने मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी को 15 हजार रुपये की रिश्वत लेते धर लिया। कार्रवाई राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सौनी (ताड़ीखेत ब्लॉक) में तैनात शिक्षक की शिकायत पर की गई।

देर शाम टीम ने सीईओ के सरकारी आवास की भी तलाशी ली। यहां से 1,93,200 रुपये नगद बरामद किए गए। सीइओ से बंद कमरे में कड़ी पूछताछ की जा रही है।

रानीखेत स्थित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सौनी में कार्यरत शिक्षक नंदन सिंह परिहार पुत्र माधव सिंह ने बीती 28 जनवरी को विजिलेंस के हल्द्वानी मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी।

शिक्षक के अनुसार उसकी तैनाती ताकुला ब्लॉक के डोनी हाईस्कूल में की थी। तब मध्याह्नï भोजन में गड़बड़ी के आरोप में सीईओ जगमोहन सोनी ने बिल बाउचर के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा था।

शिक्षक के मुताबिक उसने सीईओ को नियमानुसार कार्य करने की स्पष्ट जानकारी दे दी थी। आरोप था कि मामले के निस्तारण को सीईओ ने 20 हजार रुपये की मांग की। तब एसपी सतर्कता अधिष्ठान हल्द्वानी से की गई। गोपनीय जांच में मामला सही पाए जाने पर एसपी विजिलेंस अमित श्रीवास्तव ने बुधवार को सीईओ सोनी को 15 हजार रुपये रिश्वत लेते पकड़ लिया। एसपी विजिलेंस श्रीवास्तव के मुताबिक खुलासा हुआ कि पांच हजार रुपये पूर्व में लिए जा चुके थे।

बाद में टीम ने सीईओ सोनी के सरकारी आवास की तलाशी ली। वहां से 1,93200 रुपये बरामद हुए। कमरे में नगद रुपया कहां से आया और क्यों रखा गया था कड़ी पूछताछ की जा रही। श्रीवास्तव  ने बताया कि आरोपित सीईओ के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई की जा रही है।वर्ष 2016 में तत्कालीन सीईओ एके सिंह पर लगा था दाग

 

वर्ष 2016 में भी मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय में रिश्वत का मामला पकड़ा गया था। तब विजिलेंस टीम ने एक निजी स्कूल की मान्यता के संबंध में तत्कालीन सीईओ अशोक कुमार सिंह को 20 हजार रुपये रिश्वत लेते पकड़ा था। जनपद में अब यह दूसरा मामला आया है।

 

विशेष