देश/प्रदेश

कोरोना वायरस के संक्रमण रोकने को लगातार बढ़ रहीं चुनौतियां !!!!

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम को लेकर उत्तराखंड में भी चुनौतियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। जिस तरह से दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, उसे देखते हुए संक्रमण को कम्युनिटी ट्रांसमिशन तक पहुंचने से रोकने के लिए सैंपलिंग का दायरा भी बढ़ाना होगा। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 35 हो गई है। अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड भर्ती और संस्थागत क्वारंटाइन संदिग्ध मरीजों की संख्या भी कम नहीं है। अस्पताल या क्वारंटाइन में रह रहे इन संदिग्ध मरीजों में लगातार किसी न किसी की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है । वहीं, कई ऐसे मरीज भी हैं, जिनकी पहचान करना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में हाल-फिलहाल संकट के इस दौर से उबरा जा सके, यह होता नहीं दिख रहा है। इतना जरूर है कि सरकार, शासन-प्रशासन और पुलिस अपने-अपने स्तर से कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य कर रहे हैं। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर भी खास फोकस किया जा रहा है। पर इन सबके बीच मरीजों की पहचान के लिए सैंपलिंग का दायरा बढ़ाने की चुनौती अब भी बनी हुई है।

विशेष