राष्ट्रीय

‘बेअदबी’ के मामलों को लेकर केंद्र ने पंजाब सरकार को किया अलर्ट

पंजाब के अमृतसर के स्वर्ण मंदिर और कपूरथला के एक गुरुद्वारे में कथित बेअदबी (Sacrilege Case) को लेकर दो लोगों की हत्या के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार को अलर्ट जारी किया है. सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार ने पंजाब के तमाम धार्मिक स्थलों, डेरों, मंदिरों, गुरुद्वारों और अन्य सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों पर सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश दिया है. गृह मंत्रालय ने अलर्ट किया है कि पंजाब में धार्मिक भावनाओं को भड़काने की नापाक योजना “देश विरोधी” तत्वों द्वारा की जा रही है.

सूत्रों के मुताबिक, पंजाब में दंगे भड़काने और धार्मिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए किसी भी धार्मिक स्थल पर बेअदबी या अन्य घटना करके माहौल बिगाड़ने की साजिश हो सकती है. इसी कारण केंद्र सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों पर पंजाब पुलिस को सुरक्षा बढ़ाने और नजर रखने के निर्देश जारी किए गए हैं.

इस इनपुट के बाद पंजाब सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों की सुरक्षा चाक चौबंद कर दी है. मंदिरों से लेकर गुरुद्वारों में सीसीटीवी कैमरों को लगाने और गांव स्तर पर सरपंचों तक को आगाह करना शुरू दिया गया है. सरकार ने निर्देश दिया है कि अगर कोई शरारती तत्व गांव या धार्मिक स्थलों के आसपास दिखाई देता है तो उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें.

सीएम चन्नी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की

इससे पहले रविवार को राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी आशंका जताई है कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए घटना के पीछे कुछ ‘विरोधी’ ताकतें शामिल हो सकती हैं. मुख्यमंत्री ने लोगों से शांति, सद्भाव, भाईचारे और धार्मिक सहिष्णुता के मूल्यों के प्रति भरोसा बनाए रखने के साथ संयम बरतने का आह्वान किया. स्वर्ण मंदिर मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कथित बेअदबी के प्रयास से बहुत आहत हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है और इसकी निंदा की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर कोई गलत इरादे से आया है तो खुफिया एजेंसियां उन्हें पकड़ने और बेनकाब करने की कोशिश करेंगी. उन्होंने कहा, “हम घटना की तह तक जाएंगे. सरकार मामले की गहन जांच के लिए प्रतिबद्ध है ताकि इस कृत्य के पीछे के असली साजिशकर्ताओं का पर्दाफाश हो सके.”

निजामपुर गांव के गुरुद्वारे में युवक की पीट-पीटकर हत्या

रविवार को निजामपुर गांव में एक गुरुद्वारे में ‘निशान साहिब’ (सिख धार्मिक ध्वज) का अनादर करने के आरोप में एक अन्य व्यक्ति की हत्या कर दी गई. ग्रामीणों और सिख संगठनों के सदस्य उस व्यक्ति को बचाने की कोशिश कर रहे पुलिसकर्मियों के साथ भिड़ गए, जिसमें एक एसएचओ समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस ने कहा कि कपूरथला-सुभनापुर मार्ग पर स्थित गुरुद्वारे में बेअदबी की घटना होने के कोई ”संकेत” दिखाई नहीं दे रहे है. पुलिस के मुताबिक युवक की पीट-पीट कर हत्या की गई.

इससे पहले अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में शनिवार शाम कथित तौर पर बेअदबी का प्रयास करने वाले उत्तर प्रदेश के एक व्यक्ति की गुस्साई भीड़ ने पिटाई कर दी थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई. यह घटना उस समय हुई थी जब वह व्यक्ति पवित्र स्थल पर सुनहरी ग्रिल फांदकर तलवार उठाने के बाद उस स्थान के पास पहुंच गया जहां सिख ग्रंथी पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ कर रहा था.

Leave a Response