देश/प्रदेश

वरिष्ठों के सामने छलका बसपा कार्यकर्ताओं का दर्द

हरिद्वार, पार्टी पदाधिकारियों के सामने ही बसपा कार्यकर्ताओं ने वरिष्ठ पदाधिकारियों की कार्यशैली की पोल खोल दी। भरी सभा में कार्यकर्ताओं के दिल का दर्द छलक उठा तो नेताओं को भी असहज स्थिति का सामना करना पड़ा।

किसी ने केवल चुनाव के दौरान नेताओं के सक्रिय होने और कार्यकर्ताओं को तरजीह देने के आरोप लगाए तो कोई उपेक्षा से खिन्न नजर आया। आरोप-प्रत्यारोप के बीच वरिष्ठ नेता रूठे कार्यकर्ताओं को मनाते नजर आए और स्थिति को संभालने का प्रयास किया।

बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश कार्यालय शिवालिक नगर में जोन प्रभारी हरिद्वार डॉ. एसपी बावरा, जोन प्रभारी प्रदीप चौधरी की मौजूदगी में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। इसमें 15 जनवरी को पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष बहन मायावती का जन्मदिन जन कल्याणकारी दिवस के रूप में मनाने पर चर्चा हुई।

इस मौके पर जोन प्रभारी डॉ. एसपी बावरा ने कहा सभी कार्यकर्ता और पदाधिकारी संगठन की मजबूती को अपने सुझाव लिखित रुप में दें।

इसे प्रांतीय और राष्ट्रीय पदाधिकारियों के सामने प्रस्तुत कर उस पर अमल करने को प्रभावी कदम उठाया जाएगा। मतभेदों को भुलाकर पार्टी को मजबूत बनाना सभी की जिम्मेदारी है। बैठक में जिला पंचायत चुनाव में पार्टी की ओर से प्रत्याशी खड़ा न करने और बैठक में कार्यकर्ताओं की बहुत कम उपस्थिति पर भी सवाल उठाए गए।

रुड़की विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष तिलकराज सिद्धार्थ ने कहा पार्टी को टिकाऊ बनाने की जरूरत है बिकाऊ नहीं। रानीपुर विधानसभा के सुरेश कुमार ने कहा केवल चुनाव में पदाधिकारी सक्रिय होते हैं। कार्यकर्ताओं की उपेक्षा से पार्टी प्रदेश में खत्म होती जा रही है। इस पर चिंतन होना चाहिए।

जोन प्रभारी प्रदीप चौधरी ने कहा सभी को सक्रिय होना पड़ेगा। पार्टी सबके हित की सोचती है तो सबको भी पार्टी के लिए जीन जान से जुटना होगा।

बैठक का संचालन सुमित जरावरे व अध्यक्षता रतिराम ने की। बैठक में जिलाध्यक्ष लोकेंद्र कुमार, अश्वनी कुमार, जिला महासचिव मोनू राणा, ब्रजेश कुमार, सौरभ, अरुण कुमार, मोमिन मलिक, डॉ. जय¨सह, तेलूराम आदि मौजूद रहे।

विशेष