देश/प्रदेश

अंतर-विवाह के खिलाफ कानून लाना पूरी तरह असंवैधानिक -पी. चिदंबरम

नई दिल्ली: कांग्रेस के दिग्गज नेता पी.चिदंबरम (P.Chidambaram) ने लव जेहाद (Love Jihad) पर नया विवाद शुरू करते हुए इसे ‘बहुसंख्यकों के एजेंडे’ (Agenda of Majority) का हिस्सा बताया है. उन्होंने कहा कि लव जेहाद एक छलावा है. यह कोर्ट में नहीं टिक पाएगा क्योंकि कानून में विभिन्न धर्मों के बीच विवाह को अनुमति दी गई है.

‘अंतर-विवाह के खिलाफ कानून लाना असंवैधानिक होगा’
देश के पूर्व गृह मंत्री रहे पी. चिदंबरम (P.Chidambaram) ने कहा कि अंतर-विवाह के खिलाफ कानून लाना पूरी तरह असंवैधानिक होगा. लव जेहाद पर कानून लाना एक छलावा से ज्यादा कुछ नहीं है. यह देश में ‘बहुसंख्यकों के एजेंडे’ (Agenda of Majority) को लागू करने की कोशिश है. भारतीय कानून के तहत विभिन्न धर्मों के लोगों के बीच विवाह की अनुमति दी गई है. यहां तक कि तमाम सरकारें भी इसे प्रोत्साहित करती हैं.

बीजेपी शासित सरकारें ला रही हैं ‘लव जेहाद’ (Love Jihad) पर कानून 

बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पहचान छुपाकर शादी करने वालों के खिलाफ अध्यादेश लागू करने जा रही है. वहीं बीजेपी शासित हरियाणा और मध्य प्रदेश ने भी अपने यहां ऐसा ही कानून लाने की घोषणा की है. बीजेपी (BJP) शासित सरकारों का कहना है कि वे ऐसा कानून कथित `लव जेहाद`  (Love Jihad)  के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते ला रही हैं. ऐसे मामलों में मुस्लिम पुरुषों ने अपनी धार्मिक पहचान को छुपाकर हिंदू लड़कियों को फंसाकर अपना शिकार बनाया.

विशेष