देश/प्रदेश

देहरादून में आढ़त बाजार के साथ अब धर्मपुर, रायपुर का बॉटलनेक भी खुलेगा

आढ़त बाजार के साथ अब धर्मपुर और रायपुर का बॉटलनेक भी खोला जाएगा। जिला प्रशासन जल्द ही जमीन का अधिग्रहण करने जा रहा है। यहां के व्यापारियों को दूसरी जगह पर शिफ्ट करने की योजना है। इसे लेकर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को आदेश दे दिए गए हैं।

शहर में सबसे अधिक जाम आढ़त बाजार, धर्मपुर और रायपुर के बॉटलनेक पर लगता है। जिसके चलते यहां रोजाना सुबह से शाम तक जाम लगा रहता है। इसे लेकर कई बार लोगों द्वारा बॉटलनेक खत्म करने की मांग की गई। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई।

अब जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इन तीनों स्थानों को चौड़ा करने का बीड़ा उठाया है। आढ़त बाजार के व्यापारियों के साथ सफल बातचीत पहले ही हो चुकी है। अब रायपुर रोड पर चूना भट्टा के पास तथा धर्मपुर में मौजूद बॉटलनेक खत्म करने के लिए व्यापारियों से बातचीत शुरू हो गई है। सूत्रों के मुताबिक शहरहित को देखते हुए व्यापारी भी इसके लिए तैयार हैं।

तीन मीटर से अधिक चौड़ी की जाएगी सड़क 

आढ़त बाजार, धर्मपुर और रायपुर की बॉटलनेक खत्म कर यहां सड़क को तीन मीटर या इससे अधिक चौड़ा किया जाएगा। ऐसा होने से जहां जाम खत्म होगा। वहीं, पैदल चलने वालों को भी राहत मिलेगी।

समाधान की पूरी उम्मीद

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी कई बार आढ़त बाजार, धर्मपुर और रायपुर के बॉटलनेक पर लगने वाले जाम पर चिंता जता चुके हैं। साथ ही इसके समाधान की भी बात कहते हैं। ऐसे में इस बार बॉटलनेक के चलते लगने वाले जाम की समस्या से निजात मिलने की पूरी उम्मीद है।

कई जगहों पर निगाहें 

अधिकारियों के मुताबिक व्यापारियों को शिफ्ट करने के लिए कई जगहों पर निगाहें हैं। जमीन का चयन के बाद व्यापारियों के बातचीत करके उन्हें शिफ्ट किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक शिमला बाईपास, सहस्त्रधारा रोड, रायपुर समेत कई जगहों पर जमीन खोजी जा रही है।

आढ़त बाजार के व्यापारी पहले ही तैयार 

आढ़त व्यापारी के व्यापारी पहले ही शिफ्ट करने को तैयार हैं। बीते दिनों जिलाधिकारी उन्हें शिफ्ट होने के एवज में व्यापारियों को मुआवजा देने, नक्शा पास कराने में छूट आदि देने का आश्वासन दे चुके हैं। बता दें कि बीते करीब 19 साल से आढ़त बाजार को दूसरी जगह शिफ्ट करने की योजना बनाई जा रही है।

वर्ष 2004-05 में व्यापारियों ने निरंजनपुर में शिफ्टिंग की बात कही। लेकिन, यहां सब्जी विक्रेताओं को ही दुकानें आवंटित की गई। ऐसे में अब चर्चा है कि आढ़त बाजार शिमला बाईपास स्थित टी एस्टेट की पांच हेक्टेयर जमीन पर शिफ्ट करने की तैयारी है। इसे लेकर काम भी चल रहा है।

आढ़त बाजार, धर्मपुर और रायपुर के बॉटलनेक पर लगने वाला जाम शहर की बड़ी समस्याओं में से एक है। कोशिश है कि जल्द ही इस समस्या को खत्म किया जाए, ताकि शहरवासियों को यहां लगने वाले जाम से निजात मिल सके। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को रायपुर और धर्मपुर के बॉटलनेक हटाने के लिए जमीन का अधिग्रहण करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, आढ़त बाजार के व्यापारी शिफ्टिंग को लेकर पहले ही अपनी सहमति दे चुके हैं। जल्द ही इस पर काम शुरू हो जाएगा।
– डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव, जिलाधिकारी 

विशेष