देश/प्रदेश

भाजपा ने शुरू किया ‘छत्तीसगढ़ में चलो सरकार खोजते हैं’ अभियान

रायपुर, राज्य ब्यूरो। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार पर मंडराते संकट के बीच छत्तीसगढ़ में भी भाजपा आक्रामक हो गई है। भाजपा ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस सरकार की कमियों को उजागर करने के लिए ‘छत्तीसगढ़ में चलो सरकार खोजते हैं’ अभियान शुरू किया है।

पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट किया- छत्तीसगढ़ में सरकार शराब बेचने में मस्त है। किसान असमय वर्षा और आलोवृष्टि से पस्त है। चलो छत्तीसगढ़ में सरकार खोजते हैं। इसे भाजपा नेताओं ने रिट्वीट किया। इससे पहले चंद्राकर ने शराब को लेकर सरकार को घेरा था। चंद्राकर ने कहा था कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने इस साल शराब बेचकर सात हजार करोड़ रुपये कमाने का लक्ष्य रखा है। छत्तीसगढ़ में 50 दुकान बंद और 50 नई दुकानों के लाइसेंस दिए जा रहे हैं। चंद्राकर ने तंज कसा था-पीबो अऊ पिलाबो, का अइसने गढ़बे नवा छत्तीसगढ़।

वहीं, पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने भी शराब को लेकर सरकार को निशाने पर लिया है। मूणत ने कहा, जिस तरीके से सार्वजनिक स्थलों पर जुटने वाली भीड़ में कोरोना के फैलने की आशंका है, उसे देखते हुए सरकार को शराब दुकान बंद करने पर भी विचार करना चाहिए। धार्मिक आयोजनों से लेकर बाकी सब कार्यक्रम रद घोषित किए जा रहे हैं, लेकिन शराब विक्रय में जुटने वाली भीड़ पर रोकथाम के लिए सरकार कुछ नहीं सोच रही है। इससे साफ है दिखाना कुछ और करना कुछ और है। कोरोना वायरस से बचाव जरूरी है, स्वस्थ समाज से स्वच्छ प्रदेश बनेगा।

शराब दुकान से ज्यादा लोग जाते हैं सब्जी मंडी: सिंहदेव

कोरोना वायरस के चलते शराब दुकानों को बंद किए जाने के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने विपक्ष पर पलटवार किया। सिंहदेव ने कहा कि महाराष्ट्र और दिल्ली में सरकार ने मॉल और सिनेमा हॉल में प्रतिबंध लगा दिया है। शराब दुकानों को जब तक बंद करने के आदेश नहीं आते, तब तक सबको एहतियात बरतना होगा। सिंहदेव ने कहा कि मैं किसी एक को टारगेट करने के पक्ष में नहीं हूं। मैंने पहले भी कहा कि शराब दुकान से कहीं ज्यादा लोग सब्जी मंडी जा रहे है। शराब दुकान आपने बंद कर दिए और सब्जी मंडी में लोग जा रहे हैं, तो कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। शराब दुकान से लेकर हर उस जगह जहां भीड़ है, हमको जाने से परहेज करना चाहिए।

विशेष