राष्ट्रीय

चंडीगढ़ निगम चुनाव में बड़ा उलटफेर, बीजेपी पूरी तरह से बैकफुट पर

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले हुए चंडीगढ़ निगम चिनाव में आम आदमी पार्टी ने बड़ा उलटफेर कर दिया है। केजरीवाल के उम्मीदवार ने वहां के वर्तमान मेयर को ही हरा दिया है। इस चुनाव में बीजेपी पूरी तरह से बैकफुट पर दिख रही है।

अबतक के नतीजों और बढ़त के मुताबिक केजरीवाल की पार्टी आप ने 10 सीटें जीत ली है और 2 पर आगे चल रही है। जबकि बीजेपी ने 7 सीटें जीती हैं। कांग्रेस के हिस्से में 5 सीटें आई हैं और एक सीट पर शिरोमणि अकाली दल विजयी हुआ है। वार्ड 18 से आप उम्मीदवार तरुना मेहता ने बीजेपी की मौजूदा पार्षद सुनीता धवन को हराकर जीत हासिल की है। वहीं आप की अंजू कत्याल ने वार्ड 22 से भाजपा की मौजूदा पार्षद हीरा नेगी को हराया।

मौजूदा नगर निकाय में भाजपा के पास बहुमत है। पिछले नगरपालिका चुनावों में, भाजपा ने 20 सीटें जीती थी और शिरोमणि अकाली दल के हिस्से एक सीट आई थी। कांग्रेस के हाथ बस चार सीटें आई थीं। भाजपा ने पिछले पांच वर्षों की अपनी उपलब्धियों के सहारे चुनाव लड़ा है, जबकि कांग्रेस और आप, भाजपा पर विकास कार्य करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए चुनावी मैदान में उतरी थी। दोनों पार्टियों ने भाजपा को दादुमाजरा कूड़ा भंडारण स्थल की समस्या न सुलझाने और आवश्यक सामग्रियों की कीमतें बढ़ने को लेकर भी घेरा था।

Leave a Response