Latest Newsराष्ट्रीय

बड़ी साजिश नाकाम: BSF ने मार गिराया पाकिस्तानी ड्रोन, 5 पैकेट ड्रग्स जब्त

सीमा सुरक्षा बल ने पंजाब के फिरोजपुर सेक्टर (Ferozpur Sector) में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सोमवार को चार किलोग्राम संदिग्ध प्रतिबंधित पदार्थ लेकर जा रहे एक पाकिस्तानी ड्रोन (Pakistani Drone) को मार गिराया. बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि जवानों ने ड्रोन के उड़ते समय उससे निकलने वाली आवाज सुनी जिसके बाद तड़के करीब तीन बजे ड्रोन का पता लगाया. उन्होंने ड्रोन को मार गिराने के लिए पैरा बमों का इस्तेमाल किया.

उन्होंने बताया कि ड्रोन से हरे रंग का एक छोटा-सा बैग जुड़ा हुआ था और उसमें पीली पन्नी से बंधे चार पैकेट और काली पन्नी से बंधा एक छोटा-सा पैकेट था. संदिग्ध प्रतिबंधित पदार्थ का वजन पैकिंग के साथ करीब 4.17 किलोग्राम था और काली पन्नी में बंधे पैकेट का वजन करीब 250 ग्राम था. ड्रोन का मॉडल डीजेआई मैट्रिस 300 आरटीएक्स था. गौरतलब है कि इससे पहले 5 मार्च को पठानकोट (Pathankot) में भारत-पाक सीमा (Indo-Pak border) पर पाकिस्तानी ड्रोन की मूवमेंट देखी गई थी.

पंजाब को दहलाने की कोशिश में पाकिस्तान!

जानकारी के मुताबिक, बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन पर तुरंत कई राउंड फायरिंग की. सुरक्षाबलों ने बताया कि ड्रोन भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहा था. इस पर बीएसएफ जवानों की ओर से फायरिंग कर दी गई. जिसके बाद ड्रोन पाकिस्तान बॉर्डर की ओर चला गया. सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने इस घटना की जानकारी सीओ को दी थी. राज्य से 9 फरवरी को भी ऐसी ही घटना सामने आई थी. जब सीमा सुरक्षा बल ने भारत-पाकिस्तान सीमा के पास एक ड्रोन से नशीले पदार्थों और हथियारों की तस्करी के प्रयास को विफल कर दिया था.

लगातार हो रहीं इस तरह की घटनाएं

बीएसएफ के अधिकारी ने बताया था कि गुरदासपुर सेक्टर के पंजग्रेन इलाके में पाकिस्तान की ओर से भारतीय क्षेत्र की तरफ उड़कर आ रही एक संदिग्ध वस्तु की आवाज सुनी गई थी, जिसके बाद सैनिकों ने ड्रोन पर गोलीबारी की. ग्राम घग्गर और सिंघोके के क्षेत्र में तलाशी के दौरान संदिग्ध मादक पदार्थ के साथ पीले रंग के दो पैकेट भी बरामद किए गए थे. उन्होंने संदेह जताया था कि ये पैकेट ड्रोन से गिराए गए थे. पैकेट में एक पिस्तौल भी लिपटी हुई थी और यह खेप बाड़ से लगभग 2.7 किलोमीटर की दूरी पर एक खेत में मिली थी. बता दें कि पंजाब में 10 फरवरी को विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने हैं. ऐसे में राज्य में निरंतर हो रहीं इस तरह की घटनाएं सुरक्षा की दृष्टि से बेहद चिंताजनक हैं.

Leave a Response