देश/प्रदेश

सीएए के विरोध में सड़कों पर उतरी भीम आर्मी

हरिद्वार, नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में भीम आर्मी ने ज्वालापुर में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लेते हुए सीएए और एनआरसी के विरोध में नारेबाजी की।

जुलूस की शक्ल में भीड़ के आगे बढऩे पर पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इसके बाद कानून रद करने की मांग को लेकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा गया।

वहीं आइजी रेंज अजय रौतेला की मौजूदगी में मिश्रित आबादी वाले इलाके में चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद रही। पुलिस की सतर्कता के चलते प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया।

सीएए के विरोध में भीम आर्मी के कार्यकर्ता सुबह 10 बजे से जटवाड़ा पुल पर जमा होने लगे थे। उनकी योजना थी कि मध्य हरिद्वार के रानीपुर मोड़ पहुंचकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया जाएगा।

लेकिन पुलिस ने कोतवाली चौराहा और श्यामनगर चौक पर बैरिकेडिंग करते हुए उन्हें रोकने की पूरी तैयार की थी। सबसे पहले लोग बड़ी संख्या में जटवाड़ा पुल पर एकत्र हुए।

जनसभा को संबोधित करते हुए भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष महक ङ्क्षसह ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार दलित और मुस्लिमों का दमन कर रही है। सीएए और एनआरसी संविधान और लोकतंत्र की हत्या है।

दोपहर साढ़े 12 बजे प्रदर्शनकारी पुल से रवाना हुए। भीड़ बढ़ने पर एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस के नेतृत्व में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को कोतवाली के बाहर रोक लिया।

इसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर कानून रद करने की मांग करते हुए कार्यक्रम का समापन किया गया। प्रदर्शन में भीम आर्मी के प्रदेश उपाध्यक्ष मुन्नी लाल सिंधे, जिलाध्यक्ष प्रमोद महाजन, प्रवक्ता दीपक सेठपुर, मुकर्रम अंसारी, सुशील पाटिल, अतहर अंसारी, मेहरबान, राशिद अली, शिवकुमार, बिट्टू, अरविंद, इनाम आदि शामिल हुए। सुबह से ही डीएम दीपेंद्र चौधरी, एडीएम वित्त एवं राजस्व कृष्णकांत मिश्रा, एसडीएम कुश्म चौहान, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसपी देहात नवनीत भुल्लर, एएसपी सदर आयुष अग्रवाल पुलिस टीमों के साथ मोर्चा संभाले रहे।

भीम आर्मी के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए ज्वालापुर, जटवाड़ा पुल, मेन रोड, चौहानान, कस्साबान, श्यामनगर कॉलोनी तिराहा छावनी में तब्दील रहा।

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए डायवर्जन प्लान लागू किया गया। बैरिकेडिंग पर भारी पुलिस बल तैनात करने के साथ-साथ मेन रोड पर भी जगह-जगह पुलिसकर्मी मुस्तैद रहे।

सुरक्षा और शांति व्यवस्था के लिए जिले का आधे से अधिक पुलिस बल ज्वालापुर बुलाया गया। इनके अलावा तीन सीओ, आठ थाना प्रभारी, 20 उपनिरीक्षक, 90 कांस्टेबिल, तीन कंपनी पीएसी, एक टीम फायर ब्रिगेड और एलआइयू मुस्तैद रही। विरोध प्रदर्शन शुरू होने से पहले ज्वालापुर कोतवाल योगेश ङ्क्षसह देव ने लाउडस्पीकर से माध्यम से लोगों से धारा 144 का पालन करने की अपील की।

विशेष