प्रेरक व्यक्ति

महिलाओं के उत्पादों को आनलाइन शापिग कंपनियों से जोड़ने में जुटी है भावना शर्मा

bhawana sharma

चौखुटिया : मन में लगन हो तो कुछ भी संभव है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है भावना शर्मा ने। पांच वर्षों से वह महिला सशक्तिकरण और पहाड़ की महिलाओं को रोजगार देने का कार्य कर रहीं हैं। उनके प्रयासों से आज पांच हजार से अधिक महिलाएं विभिन्न क्षेत्रों में आत्मनिर्भर होकर जीविकोपार्जन कर रही हैं।

महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के उद्देश्य से भावना शर्मा ने गेवाड़ संकल्प समिति की स्थापना की। फिर शुरू हुआ संघर्ष का दौर। शुरू में भावना महिलाओं को निःशुल्क सिलाई, कढ़ाई, मशरूम, आर्गेनिक खेती, अचार पापड़, बिनाई,और ऐपण बनाने का प्रशिक्षण दिया करती थीं। धीरे-धीरे उनका काफिला बढ़ने लगा और महिलाएं जुड़ने लगी। अब सबसे बड़ा संकट उनके सामने महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करना था। उन्होंने 200 से अधिक समूहों को बनाकर ब्लाक तथा नगर पंचायत से जोड़ा। अब यह महिलाएं व्यवसायिक तरीके से कार्य कर आर्थोपार्जन करने लगी थी। महिलाओं के विभिन्न उत्पादों को बाजार देने के लिए संस्था ने मिजात एक लोकल ब्रांड बनाया। ताकि इन उत्पादों को बाजार दिया जा सके। आनलाइन भी बिकेंगे अब उत्पाद

महिलाओं के स्थानीय उत्पादों को बाजार देने के लिए अब आनलाइन शापिग कंपनियों से टाइअप किया जा रहा है। इसके लिए भावना शर्मा ने फ्लिपकार्ट, अमेजन आदि से बात की है। अब कुछ समय बाद मिजात ब्रांड के उत्पादों के साथ विभिन्न ऐपण कलाएं भी आनलाइन दिखाई देंगी।

पहाड़ की महिलाओं में हुनर की कमी नहीं है। बस उन्हें सही मार्गदर्शन चाहिए। अगर उन्हें यह मिल जाए तो वह कुछ भी कर सकती है। लगातार उनका यह कार्य जारी रहेगा।

– भावना शर्मा, उद्यमी

Leave a Response