Latest Newsउत्तराखंड

गंगोत्री धाम में बर्फबारी से जम गई भागीरथी नदी, बर्फबारी के आगोश में कई गांव

उत्तरकाशी : बीते 4 दिनों से उत्तरकाशी के ऊंचाई वाले इलाकों में जहां भारी बर्फबारी जारी है तो वहीं निचले क्षेत्रों में बारिश के कारण हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है. भटवाड़ी के हर्षिल, मोरी और बड़कोट के गीठ और सर बडियार क्षेत्र के करीब 30 गांवों में बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. तापमान में गिरावट आने के कारण गंगोत्री धाम में भागीरथी नदी जम और बर्फ से ढक चुकी हुई है.गंगोत्री धाम में बुधवार को उच्चतम तापमान -4 डिग्री सेल्सियस रहा है तो वहीं न्यूनतम तापमान -14 डिग्री सेल्सियस के आसपास है.

गंगोत्री धाम मंदिर समिति के कर्मचारी सूर्यप्रकाश ने बताया कि गंगोत्री धाम में वर्तमान में करीब 4 फीट बर्फ जमी है. इसके साथ ही धाम में भागीरथी (गंगा) नदी भी जम गई है. गंगोत्री में भागीरथी (गंगा) नदी में बर्फ के बने ग्लास के बीच से नाम मात्र का ही पानी बह रहा है.  भागीरथी नदी का पूरा स्पान बर्फ से ढका हुआ है और हर तरफ नदी सफेद नजर आ रही है. साथ ही गंगोत्री धाम में गंगा की सहायक छोटी-छोटी नदियां पूरी तरह फ्रिज हो रखी हैं. उधर, यमुनोत्री हाइवे स्यानाचट्टी से फूलचट्टी के बीच बर्फबारी के कारण बंद हो गई थी. जिसे एनएच विभाग की मशीनरी ने खोल दिया है. जिसके बाद आवाजाही बहाल हो गई है. वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों में बर्फबारी से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है. 

श्रीनगर में बारिश तो पौड़ी के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में स्नोफॉलः श्रीनगर में बारिश के कारण लोग घरों में दुबके रहे तो पौड़ी के उच्चे स्थानों में बर्फबारी हुई. जिससे पहाड़ियां बर्फ की चादर से ढक गई हैं. वहीं, बारिश के कारण बार-बार बंद हो रहे एनएच 119 को कोटद्वार और दुगड्डा के बीच खोल दिया गया है. जिससे पौड़ी जिले से कोटद्वार जाने वाले लोगों ने राहत की सांस ली. बारिश के चलते श्रीनगर में तापमान 5 डिग्री तक नीचे चला गया. ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा लेते नजर आए.

Leave a Response