राष्ट्रीय

बेंगलुरू में गणेश चतुर्थी पर मीट बेचने और कसाई खानों पर बैन लगाया

बेंगलुरू में गणेश चर्तुर्थी के उपलक्ष्य में बृहत बेंगलुरू महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने मीट बिक्री और कसाईखानों पर पाबंदी लगाई है. यह पाबंदी बेंगलुरू महानगर पालिका के सभी क्षेत्रों में लागू रहेगा. इस बैन को महानगर पालिका ने 31 अगस्त के दिन लगाया है. इस पर हैदराबाद सांसद और AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि यह मुसलमानों को दबाने की कोशिश है. महानगर पालिका के कन्नड़ भाषा में जारी नोटिस में यह सूचना जारी की है.

बीबीएमपी के नोटिस में लिखा है, ’31 अगस्त को गणेश चतुर्थी के उपलक्ष्य में वुधवार को शहर के सभी कसाईखानों पर और मीट बेचने पर पाबंदी रहेगी.’ इस पर पशुपालन विभाग के जॉइंट डायरेक्टर ने यह सूचना जारी की है बृहत बेंगलुरू महानगर पालिका के अंतर्गत सभी क्षेत्रों में गणेश चतुर्थी के दिन मीट बेचने, मीट की दुकानों के स्टॉल लगाने और कासईखानों पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा.

असदुद्दीन ने जताई आपत्ति

इस आदेश के बाद हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कड़ी आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा है कि यह देश के मुसलमानों को दबाने की कोशिश है. उन्होंने एक बयान में कहा कि ऐसे आदेशों के जरिए देश के मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है.

मुरादाबाद मामले में पीएम से मांगा जवाब

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के छजलैट थाना के दौलतपुर गांव में एक संप्रदाय विशेष ने सामूहिक रूप से नमाज पढ़ी. मामले में पुलिस ने 26 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इस मामले में भी ओवैसी ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि, भारत में अब मुसलमान खबरों में भी नमाज नहीं पढ़ सकते?

Leave a Response