बागेश्वर

बागेश्वर में राशन वितरण को लेकर लोगों में नाराजगी, दस किलो गेहूं में तीन किलो कूड़ा निकल रहा

बागेश्वर/गरुड़: कोरोना काल में राशन वितरण को लेकर लोगों में नाराजगी है। ग्रामीणों के अनुसार गेहूं अच्छी गुणवत्ता का नहीं है। पीडीएस की राशन की दुकानों से सभी तरह के उपभोक्ताओं को अतिरिक्त मात्रा में गेहूं, चावल बेचा व वितरित किया जा रहा है। इन दिनों राशन की इन दुकानों से अपने हिस्से का गेहूं लेकर घर पहुंच रहे कार्डधारक खासे परेशान नजर आ रहे हैं। जिसका कारण गेहूं में मिला कूड़ा करकट, मिट्टी व घास का बीज है। जिसे बीनने, धोने में उनके पसीने छूट जा रहे हैं। इतना अधिक कूड़ा मिश्रित गेहूं की आपूíत हुई है कि प्रति दस किलो गेहूं में दो से तीन किलो कूड़ा निकलना निश्चित है। महेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, गोपाल सिंह, महेश भट्ट, हरीश जोशी, रमेश राम, गोपाल राम, इंद्रा देवी, कमला देवी, पुष्पा देवी, पार्वती देवी आदि उपभोक्ताओं का आरोप है कि इस कार्य में उनके श्रम व धन की अनावश्यक बर्बादी हो रही है। ग्रामीणों का यह संकट यहीं पर समाप्त नहीं हो जाता।