देश/प्रदेश

शीतकाल के लिए बंद हुए बद्रीनाथ धाम के कपाट

[सुभाष पिमोली ] चमोली: पारम्परिक विधि विधान एवं मंत्रोचारण के साथ भगवान बद्रीनाथ धाम के कपाट 17 नवंबर की सायं 5ः13 बजे शीतकाल के लिए बंद किए दिए गए।

इस मौके पर 9 हजार, 135 श्रद्धालुओं ने भगवान बद्रीनाथ जी के दर्शन किए। पूरे यात्राकाल में इस वर्ष 12 लाख, 33 हजार, 938 तीर्थयात्रियों ने भगवान बद्रीनाथ जी के दर्शन कर पुण्य अर्जित किया।

इस वर्ष भगवान  बद्रीनाथ जी की यात्रा कई मायनों में खास रही। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राज्यपाल उत्तराखण्ड बेबी रानी मौर्य, मानव संशाधन एवं विकास मंत्री भारत सरकार रमेश पोखरियाल निशंक, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, रिलायंस कंपनी के चैयरमेन मुकेश अंबानी, थल सेना अध्यक्ष विपिन रावत, मा0 सांसद तीरथ सिह रावत, मा0 मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, स्वामी रामदेव सहित कई अति विशिष्ट और विशिष्ट लोगों ने भगवान बद्री नारायण के दर्शन कर पुण्य अर्जित किया। वही इस वर्ष लाखों देश विदेश के श्रद्धालु भी बद्रीनाथ धाम पहुॅचे।

बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने के अवसर पर चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, पुलिस अधीक्षक यशवंत चैहान, सीडीओ हंसादत्त पांडे, एडीएम एमएस बर्निया सहित हजारों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

विशेष