Latest Newsनेतागिरी

धामी के नाम का ऐलान होते ही CM के दावेदारों के चेहरों पर छाई मासूसी

उत्तराखंड (Uttarakhand) में मुख्यमंत्री के लिए पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) के नाम की घोषणा होते ही मुख्यमंत्री पर दावेदारी कर रहे नेताओं को बड़ी निराशा लगी है. पिछले साल पहले त्रिवेन्द्र और फिर तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाने से पहले ही कई नेताओं ने अपनी दावेदारी केन्द्रीय नेतृत्व के सामने रखी. उन्हें पिछले दो बार की तरह इस बार भी दरकिनार कर दिया है. वहीं दिल्ली में आलाकमान की परिक्रमा करने वाले और बैठकों को शिष्टाचार बताने वाले नेताओं के चेहर लटके हुए हैं.

असल में पुष्कर सिंह धामी के चुनाव हार जाने के बाद मुख्यमंत्री को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी. धामी चुनाव हार गए थे और इसलिए उनका दावा कमजोर हो गया था और नेताओं ने देहरादून से लेकर दिल्ली तक लॉबिंग करनी शुरू कर दी थी. यह भी चर्चा थी कि राज्य में मुख्यमंत्री का चयन विधायकों या किसी भी सांसद में से किया जा सकता है. लिहाजा सीएम की दौड़ में विधायकों के साथ ही सांसद भी आ गए. वहीं जिन विधायकों का नाम सीएम के पद के लिए लिया जा रहा था उसमें कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, डॉ धन सिंह रावत और रितु खंडूड़ी प्रमुख थी. जबकि सांसदों में राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी, लोकसभा सांसद डॉ रमेश पोखरियाल निशंक और रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट का नाम तेजी से उभरा था. लेकिन आलाकमान ने धामी के नाम पर ही मुहर लगाई.

Leave a Response