देश/प्रदेश

अमन सिंह रावत ने किया रुद्रप्रयाग का नाम रोशन

दिलबर सिंह बिष्ट [रुद्रप्रयाग ] : कहते है क्या कभी कहावत सत्यता में हकीकत की ओर परिभाषित हो सकती है लेकिन यह सच है जो अपने पथ पर अड़िग, लगन से अपने कार्य को अपना एक लक्ष्य बना कर चलता है उसे रास्ते के कांटे भी अपना रास्ता छोड़ देते है।

बता दे आपको ग्रामीण क्षेत्रों में अधिसंख्य छात्र-छात्राओं का जीवन जो कुछ कर गुजरने के लिए अपने हौसले को विराम देना नही जानते।उन्ही में एक हौसले से लबरेज राजकीय इंटर कॉलेज बरसूड़ि ग्राम पिपली पटी बचन्स्यु निवासी 14 वर्षिय बालक अमन सिंह रावत पुत्र राजेन्द्र सिंह रावत कक्षा 9 वी का छात्र जिसने विभिन्न खेल कूद प्रतियोगिता में सहरी क्षेत्र के छात्रों को मात देकर न्याय पंचायत, ब्लॉक् स्तर, जिला स्तर व राज्य स्तर तक अपना नाम ऊँचा किया

बल्कि माता /पिता सरिता देवी रावत,  राजेन्द्र सिंह रावत के साथ क्षेत्र के लोगों का मान समान बढ़ाया।आज गर्व की बात है कि दुकानदार पिता ग्रहणी माता का यह 14 वर्षिय पुत्र अंडर 14 के लिए खेले गये खेल प्रतियोगिताओं में एक दर्जन से अधिक स्वर्ण, रजत व कान्स पदक अपने नाम कर चुका है।

राजकीय इंटर कॉलेज छात्र अमन सिंह रावत ने बताया कि अंदर 14 खेल कूद प्रतियोगिताओ में मुझे वर्ष 2017 से खेलने का मौका मिला जिसमे न्याय पंचायत स्तर पर ऊंची कूद में प्रथम स्थान,वर्ष 2018 में न्याय पंचायत स्तर पर लम्बी कूद में स्वर्ण पदक,कबडी मैं स्वर्ण पदक विकाशखण्ड स्तर पर कबड़ी में कांस्य पदक,400मीटर दौड़ रजत पदक व बॉलीबाल में कांस्य पदक वंही 2019 में विकाशखण्ड खेल प्रतियोगिता में ऊंची कूद में प्रथम,चका फेंक में प्रथम व गोल फेंक में प्रथम स्थान जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिता में ऊंची कूद में प्रथम,चका फेंक प्रथम व गोला फेंक में प्रथम स्थान राज्य स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में ऊंची कूद में दूसरा स्थान व चका फेंक तृतीय स्थान पा कर अपने विद्यालय के साथ-साथ क्षेत्र का नाम भी ऊंचा किया है।

छात्र अमन सिंह रावत का कहना है कि सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे-छोटे खेलकूद के लिये स्टेडियममो के निर्माण के साथ मास्टर ट्रेनरों को रखे तो ऐसे कई प्रतिभावान नव युवक, नवयुवतियां निखर कर आ सकते है जिससे वे खेलो में देश का नेतृत्व भी कर सकते है।

विशेष