देश/प्रदेश

सल्ट ब्लॉक के ग्राम बेसरबगड़ और ईड़ाकोट के लिए बनी नव निर्मित पेयजल लाइन में धांधली का आरोप

मानिला (अल्मोडा)। सल्ट ब्लॉक के ग्राम बेसरबगड़ और ईड़ाकोट के लिए बनी नव निर्मित पेयजल लाइन में धांधली का आरोप लगाते हुए ईड़ाकोट के ग्रामीणों ने जल निगम के जेई और ठेकेदार का घेराव किया और जमकर नारेबाजी की। इस दौरान ग्रामीणों की जेई और ठेकेदार से तीखी झड़प हुई। नौबत हाथापाई तक पहुंच गई थी। जेई के पेयजल लाइन की जांच करने के बाद ग्रामीण शांत हुए। उन्होंने एक सप्ताह के बाद जांच नहीं होने पर जल निगम कार्यालय में तालाबंदी करने की चेतावनी

ग्रामीणों ने ईड़ाकोट गांव के लिए लाखों रुपये की लागत से बनी नव निर्मित पेयजल योजना में धांधली का आरोप लगाया है। जल निगम की जेई परवेज जहां और ठेकेदार पुष्पेंद्र भंडारी बुधवार को मामले की जांच करने गांव ईड़ाकोट पहुंचे थे। इस दौरान ग्रामीणों ने जेई और ठेकेदार का घेराव कर नारेबाजी शुरू कर दी। उन्होंने जेई और ठेकेदार को खूब खरी-खोटी सुनाई। ग्रामीणों की जेई और ठेकेदार से तीखी झड़प हुई। इस दौरान नौबत हाथापाई तक पहुंच गई। जेई ने मौके पर जाकर पेयजल योजना की जांच की।

जेई के मुताबिक योजना में गड़बड़ी मिली है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के भीतर संबंधित ठेकेदार ने कमियां दूर नहीं की तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद ग्रामीण शांत हुए। घेराव करने वालों में टिटोली के प्रधान भास्करानंद, प्रकाश बिष्ट, आनंद सिंह, नंदन सिंह, प्रेम सिंह, सोनू तिवारी, धर्मानंद, हरीश सिंह, कैलाश तिवारी आदि शामिल थे।
इधर बेसरबगड़ की प्रधान कौशल्या देवी ने गांव के लिए बनी नव निर्मित पेयजल योजना में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। टिटोली के प्रधान भास्करानंद और बेसरबगड़ की प्रधान कौशल्या देवी ने एक सप्ताह के भीतर योजना की जांच नहीं होने पर जल निगम कार्यालय में तालाबंदी करने की चेतावनी दी। प्रधान के नेतृत्व में ग्रामीणों ने गांव में पहुंचे जेई और ठेकेदार के सामने विरोध जताया। विरोध जताने वालों में गोविंद सिंह, हरीश सिंह, चंदन सिंह, पूरन सिंह, दीवान सिंह आदि शामिल हैं।

विशेष