Uncategorized

UKSSSC पेपर लीक प्रकरण के बाद इन परीक्षाओं पर छाये संकट के बादल

यूकेएसएसएससी की पिछली 13 भर्ती परीक्षाएं संदेह के दायरे में हैं। एसटीएफ और विजिलेंस इनकी जांच कर रही हैं। दूसरी तरफ, भर्ती परीक्षाओं में हुई धांधली की गाज आयोग के अधिकारियों पर भी गिरने लगी है। पूर्व सचिव संतोष बडोनी को निलंबित किया जा चुका है तो पूर्व परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी की भूमिका संदेह के घेरे में है।

करीब छह लाख अभ्यर्थियों की बेचैनी बढ़ी

  • इस सबके बीच विभिन्न सरकारी विभागों में 4282 पदों को भरने के लिए आयोग की सात प्रस्तावित भर्ती परीक्षाओं पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।
  • इससे इन भर्ती परीक्षाओं के लिए आवेदन करने वाले करीब छह लाख अभ्यर्थियों की बेचैनी भी बढ़ गई है।
  • आयोग की चौतरफा फजीहत के बाद ये अभ्यर्थी परीक्षा की सही ढंग से तैयारी भी नहीं कर पा रहे।
  • साथ ही उनके मन में परीक्षाओं की शुचिता को लेकर भी तरह-तरह की आशंकाएं हैं। जिनका समाधान करने वाला कोई नजर नहीं आ रहा।
  • वजह यह कि वर्तमान में आयोग के पास ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है, जिसके माध्यम से वह परीक्षा का आयोजन कर सके।
  • अब तक भर्ती परीक्षाओं के प्रश्न पत्र छापने और परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी संभाल रही कंपनी के मालिक व चार कर्मचारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
  • इसके बाद आयोग की तरफ से कंपनी से सभी कार्य छीने जा चुके हैं और कंपनी को ब्लैक लिस्ट करने की तैयारी चल रही है।
  • दूसरी तरफ, हाल ही में जिम्मेदारी संभालने वाले आयोग के नए अधिकारी भी हालिया घटनाक्रम से पशोपेश में हैं।
  • युवाओं की दुविधा और अपनी छवि के प्रति उनकी आशंकाओं को समाप्त करने के लिए आयोग को चाहिए कि जल्द से जल्द परीक्षा के लिए नई कंपनी का चयन कर इस दिशा में कदम बढ़ाए जाएं।

आयोग के गठन के बाद से ही विवाद में परीक्षाएं

  • उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के गठन के बाद से ही प्रदेश में भर्ती परीक्षाएं विवादों में रही हैं।
  • आयोग के गठन के बाद करीब आठ साल में नियुक्त दो अध्यक्षों ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही इस्तीफा दे दिया।
  • वर्ष 2015-16 में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के 192 पदों के लिए हुई परीक्षा में कुछ ओएमआर शीट में गोले आयोग में भरने के आरोप लगे। इसको लेकर बेरोजगारों ने प्रदेशभर में हंगामा किया।
  • तत्कालीन अध्यक्ष आरबीएस रावत (सेनि.) ने इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया था। यह परीक्षा आयोग ने बाद में आयोजित की।

इन भर्ती परीक्षाओं पर संकट

  • परीक्षा-रिक्तियां-आवेदन
  • पुस्तकालय सहायक-220-1,68,850
  • पटवारी-521-1,62,000
  • पुलिस आरक्षी-1521-1,03,030
  • वन आरक्षी-894-1,31,500
  • सहायक लेखाकार-662-26,840
  • वाहन चालक-192-11,390
  • पुलिस दूरसंचार हेड कांस्टेबल के 272 पदों को भरने के लिए लिखित परीक्षा हो चुकी हैं, शैक्षिक दस्तावेजों की जांच बाकी है।

 

Leave a Response