देश/प्रदेश

मसूरी शहर के सभी मीट की दुकानों को जिला प्रशासन ने करवा दिया बंद, मीट विक्रेताओं में रोष

मसूरी: जिला प्रशासन ने मंगलवार को शहर के सभी मीट की दुकानों को बंद करवा दिए है. जिसको लेकर मीट विक्रेताओं में जिला प्रशासन के खिलाफ भारी रोष है. नायब तहसीलदार पूरन सिंह के नेतृत्व में मसूरी के गांधी चौक कैमल बैक रोड पिक्चर पैलेस चौक की मीट की दुकानों को बंद कराया गया. उन्होंने बताया कि एसडीएम मसूरी संगीता कनौजिया के निर्देशों के बाद मीट की दुकानों को तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है.

मसूरी एसडीएम संगीता कनौजिया ने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के बाद मसूरी देहरादून में स्लाटर हाउस बंद हो गए थे, इसके बावजूद मांस विक्रेता मीट बेच रहे है. वहीं देहरादून जिले में कितने अवैध स्लाटर हाउस हैं, उसका जवाब मांगा गया है. उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान ज्यादातर मांस विक्रेताओं के पास न तो लाइसेंस है और न ही उनके द्वारा मांस कहां से लाया जा रहा है इसकी जानकारी है. जिसको लेकर जिला अधिकारी के निर्देशों के बाद मसूरी में मीट की दुकानों को बंद कराया गया.

विक्रेताओं का कहना है कि आए दिन जिला प्रशासन द्वारा उच्च न्यायालय के निर्देशों का हवाला देते हुए उनका उत्पीड़न किया जा रहा है. जबकि उनके पास एकमात्र रोजगार यही है. उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन और सरकार को मिलकर मांस विक्रेताओं के लिए ठोस नीति बनाई जानी चाहिए. जिससे वे अपना कारोबार सही तरीके से संचालित कर अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकें.

विशेष