उत्तराखंड

अल्मोड़ा में ATM क्लोनिंग से धोखाधड़ी का आरोपी हरियाणा से गिरफ्तार

अल्मोड़ा: एटीएम क्लोनिंग के माध्यम से लोगों से धोखाधड़ी कर लाखों की ठगी करने वाले आरोपित को पुलिस ने हरियाणा उसके घर में दबोच लिया। आरोपित को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया। आरोपित के विरुद्ध जिले में ठगी के तीन मामलों में मुकदमें दर्ज हैं।

पिछले वर्ष 13 अक्टूबर को द्वाराहाट के ग्राम शीतलापुष्कर निवासी गीता वर्मा के पंजाब नेशनल बैंक शाखा द्वाराहाट के खाते से ठगों ने कुल 19046 रुपये एटीएम क्लोनिंग के माध्यम से धोखाधड़ी कर पार कर लिए थे। चौखुटिया के ग्राम गनाई निवासी महेंद्र सिंह के बैंक आफ बड़ौदा बैंक शाखा से भी 40118 रुपये और दो नवंबर को चौखुटिया के ग्राम जमणिया निवासी दीपा देवी के एसबीआई खाते से 30078 रुपये ठगे।

तीनों खातेधारकों ने द्वाराहाट और चौखुटिया में तहरीर दी थी। पुलिस ने ठगी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। मामले की विवेचना साइबर सेल प्रभारी अजय लाल साह कर रहे थे। डीसीआरबी प्रभारी अरुण कुमार के नेतृत्व में साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की गई।

इधर, 11 मई को वांछित आरोपित रवि कुमार (28) निवासी ग्राम घडवाल जिला सोनीपत हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के विरुद्ध द्वाराहाट और चौखुटिया थानों में तीन मामलों में विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज था। थानाध्यक्ष राजेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि आरोपित को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तारी टीम में एसआइ मोहन सिंह सौन, कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह, बलराम, दयाप्रकाश धौनील आदि रहे।

एक आरोपित पहले हो चुका गिरफ्तार, अब भी दो चल रहे फरार

गिरफ्तार आरोपित रवि कुमार एटीएम क्लोनिंग एवं बैंक धोखाधड़ी का शातिर है। आरोपित ने हरियाणा के जिला सोनीपत ग्राम घडवाल निवासी अशोक कुमार, जिला हिसार ग्राम उगालन निवासी रिंकू और जिला जिंद ग्राम देलही निवासी संदीप के साथ मिलकर धोखाधड़ी की थी।

आरोपित एटीएम क्लोनिंग के माध्यम से फर्जी एटीएम तैयार कर धोखाधड़ी एवं बेइमानी से लोगों के खातों से रुपये हड़प लेते थे। तीनों घटनाओं में शामिल मुख्य आरोपित अशोक कुमार को चौखुटिया पुलिस पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी है। अब भी मामले में संदीप और रिंकू फरार चल रहे हैं।

Leave a Response