देश/प्रदेश

हिंसा और विरोध-प्रदर्शन पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति तेज

नई दिल्ली : जामिया मिलिया विश्वविद्यालय में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में बड़े स्तर पर प्रदर्शन हो रहा है. हालांकि प्रदर्शन के दौरान हिंसा और आगजनी की घटना भी घटित हुई. कई बसों और निजी गाड़ियों में आग लगाए गई है.

इस आंदोलन को लेकर भिन्न पार्टियों के नेता ने प्रतिक्रिया दी-

इस हिंसा के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के दिल्ली अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने कहा कि हम इस हिंसात्मक आंदोलन की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं और जो भी इसमें संलिप्त है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए.

वहीं भारतीय जनता पार्टी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि यह बहुत ही चिंताजनक है आम आदमी पार्टी के मुखिया के इशारे पर हुआ है, क्योंकि उनका बयान भी आया तो यह कहा कि आंदोलन जारी रखो. आम आदमी पार्टी के विधायक की पूरी वीडियो-आडियो मैंने ट्वीट की है. इन लोग हिंसा फैलाने चाहते है.

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने बताया कि कि इस तरह के हिंसा का आम आदमी पार्टी भर्त्सना और निंदा करती है. भारतीय जनता पार्टी की यह ओछी राजनीति है, वह जब भी चुनाव हारते है तो इस तरह का रास्ता अपनाते है.

भाजपा दिल्ली के वरिष्ठ नेता विजय गोयल ने बोला कि नागरिकता संशोधन विधेयक के आड़ में कुछ पार्टिया अपना एजेंडा चला रही है. मैं बता दूं यह किसी के खिलाफ नहीं है. हर भारतीय नागरिक सुरक्षित है.

विशेष