देश/प्रदेश

नौकरी दिलाने का झांसा देकर एक युवती से 48 हजार रुपये ठगे

देहरादून। ऑनलाइन नौकरी ढूंढना एक युवती को भारी पड़ गया। जालसाजों ने उसे डाटा एंट्री ऑपरेटर की नौकरी दिलाने का झांसा देकर 48 हजार रुपये ठग लिए। आरोपितों ने युवती से विभिन्न शुल्कों के नाम पर कई किश्तों में पेटीएम के माध्यम से रुपये लिए। इस मामले में नेहरू कॉलोनी थाना पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

नेहरू कॉलोनी थाने के एसओ दिलबर सिंह नेगी बताया कि विधायक कॉलोनी फेस-1 में रहने वाली सौम्या भंडारी ने क्लासीफाइड एडवरटाइजिंग प्लेटफॉर्म क्विकर पर नौकरी का एक विज्ञापन देखकर आवेदन किया था। इसके बाद बीती तीन मार्च को सौम्या के पास राहुल नेगी नाम के शख्स ने फोन किया और बताया कि उसके लिए डाटा एंट्री ऑपरेटर की जॉब है।

इसके लिए राहुल ने सौम्या को एक वेबसाइट का नाम भेजकर उसमें रजिस्ट्रेशन करने को कहा। सौम्या ने वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कर दिया। इसके बाद राहुल ने उसकी बात खुद को कंपनी का सीनियर अधिकारी बताने वाले मनीष चावला से कराई। दोनों ने सौम्या से कहा कि उसे नौकरी से पहले एनओसी समेत विभिन्न शुल्कों के नाम पर कुछ धनराशि जमा करनी होगी। जोकि उसे नौकरी मिलने के बाद वापस कर दी जाएगी।

झांसे में आकर सौम्या ने उन्हें पेटीएम के माध्यम से विभिन्न किश्तों में 48,569 रुपये भेज दिए। इसके बाद आरोपितों ने उससे इस रकम पर 18 फीसद जीएसटी अदा करने को कहा। साथ ही यह भी कहा कि जीएसटी का भुगतान नहीं किया तो पूरी धनराशि जब्त हो जाएगी। ठगी की आशंका होने पर सौम्या ने आरोपितों से रुपये वापस मांगे तो उन्होंने धमकी देते हुए रकम लौटाने से इन्कार कर दिया।

सौम्या ने बताया कि इसके बाद उसने कई बार आरोपित को फोन किया, लेकिन उन्होंने बात नहीं की। लगातार फोन करने पर राधिका और अल्का नाम की महिलाओं ने फोन उठाया और कहा कि उनके दफ्तर में राहुल नाम का कोई व्यक्ति नहीं है। एसओ ने बताया कि सौम्या की शिकायत पर राहुल नेगी, मनीष चावला, राधिका और अल्का के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

विशेष