सुनो सरकार

अल्मोड़ा में पेयजल आपूर्ति की किल्लत से जूझ रही 40 हजार की आबादी

अल्मोड़ा : मटेला से अल्मोड़ा को पेयजल आपूर्ति करने वाली पेयजल लाइन के क्षतिग्रस्त हो जाने से गुरुवार को अल्मोड़ा के कई क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति नहीं हो सकी। इससे नगर के विभिन्न मोहल्लों की 40 हजार की आबादी प्रभावित रही। उपभोक्ताओं ने नौलों, धारों व पेयजल टैंकरों से पानी ढोकर जैसे तैसे काम चलाया। इससे उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

कोसी-मटेला से अल्मोड़ा को पेयजल आपूर्ति करने वाली लाइन के बुधवार की देर सायं आरटीओ कार्यालय के पास क्षतिग्रस्त हो जाने से गुरुवार को एडम्स पंप से विभिन्न माेहल्लों को जलापूर्ति नहीं हो पाई। इससे लोग पीने के पानी के लिए परेशान रहे। काफी देर तक तो लोग पानी आने का इंतजार करते रहे। इसके बाद लोगों ने जल संस्थान व जल निगम कार्यालयों में फोन किया तो पता चला की पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त है।

इसके बाद लोगों ने अपने-अपने घरों के आसपास नौलों व धारों से जैसे-तैसे पेयजल की व्यवस्था की। पेयजल आपूर्ति नहीं होने से पूर्वी पोखरखाली, ढूंगाधारा, रानीधारा, झिझाड़, त्यूनरा, गोपालधारा, चीनाखान, बुद्धिपुर, होमगार्ड व एसएसबी कॉलोनी, बल्ढौटी, गोलनाकरड़िया, एलआर साह रोड, थपलिया, तिलकपुर, खोल्टा, जाखनदेवी, मालरोड के आसपास बसे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

अधिशासी अभियंता केएस खाती ने बताया कि कोसी में एक पंप में आई तकनीकी खराबी तथा आरटीओ कार्यालय के पास पेयजल लाइन के क्षतिग्रस्त हो जाने से पेयजल आपूर्ति में व्यवधान रहा। पंप में आई तकनीकी खराबी को दूर कर लिया गया है। वहीं जल निगम की ओर से क्षतिग्रस्त पेयजल लाइन को दुरुस्त किए जाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में टैंकरों से बांटा पानी

ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल का जबर्दस्त संकट बना हुआ है। गुरुवार को जल संस्थान ने विभागीय व किराए के टैंकरों से ज्योली,लाटगांव , भैंसवाड़ाफार्म, मनीआगर, लमगड़ा, सल्ला बैंड, कफडखान, करबला, दुगालखोला, बल्टा व खत्याड़ी में पेयजल वितरित किया।

Leave a Response