देश/प्रदेश

कुमाऊं विश्‍‍वविद्यालय के कुलपति के लिए 32 लोगों ने की दावेदारी

नैनीताल: कुमाऊं विवि के कुलपति की स्थायी नियुक्ति के लिए नए सिरे से चयन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सर्च कमेटी के एक अहम सदस्य के हटने से नए सिरे से प्रक्रिया शुरू करनी पड़ी। जिसके बाद वर्तमान कुलपति प्रो. केएस राणा का कार्यकाल छह माह या नई नियुक्ति तक विस्तार दिया गया।

मई 2019 में कुमाऊं विवि के कुलपति प्रो. डीके नौडि़याल को इस्तीफा देना पड़ा था। जिसके बाद कुलाधिपति बेबी रानी मौर्य ने प्रो. केएस राणा को छह माह की अवधि के लिए कुलपति नियुक्त किया। इसी बीच कुलपति पद पर चयन के लिए सर्च कमेटी का गठन किया गया।

सर्च कमेटी द्वारा दावेदारों की स्क्रीनिंग भी कर ली गई थी मगर हाल ही में कमेटी के एक अहम सदस्य ने इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद नए सिरे से स्थाई कुलपति चयन की प्रक्रिया आरंभ हुई। बताया जाता है कि सर्च कमेटी ने 32 आवेदकों को साक्षात्कार के लिए बुलाया है।

कमेटी में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस चंद्रचूड़, नैनीताल हाई कोर्ट के जस्टिस आलोक कुमार वर्मा व यूजीसी के पूर्व संयुक्त सचिव देव स्वरूप शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार जिन विद्वानों को साक्षात्कार के लिए बुलावा भेजा गया है, उसमें मौजूदा कुलपति प्रो. केएस राणा के साथ ही कुमाऊं विवि के एक अन्य प्राध्यापक भी हैं।

विशेष