राष्ट्रीय

लखीमपुर हिंसा में आशीष मिश्र समेत 14 लोगों पर हत्या का आरोप तय

लखीमपुर खीरी तिकुनिया हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे सहित 14 पर हत्या का आरोप तय किया गया है. हिंसा में मारे गए किसानों के मामले में जिला कारागार में बंद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्र सहित सभी 14 आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी. मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सभी पर आरोप तय कर दिए हैं. अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम सुनील कुमार वर्मा की कोर्ट में सुनवाई हुई. अब इस केस का ट्रायल शुरू होगा.

4 किसानों सहित 8 लोगों की हुई थी मौत

सुनवाई के लिए 16 दिसंबर को अगली तारीख तय कर दी गई है. इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्र सहित कुल 14 अभियुक्त हैं. एक आरोपी जमानत पर जेल से बाहर है. तीन अक्टूबर 2021 को हुए चर्चित तिकुनिया कांड में चार किसानों सहित कुल आठ लोगों की मौत हुई थी. इस मामले में दो मुकदमे दर्ज हुए थे. एक मुकदमा किसान पक्ष ने दर्ज कराया था, जिसमें केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्र सहित 14 आरोपी हैं.

इन धाराओं में आरोपियों पर दर्ज है केस

कोर्ट ने आशीष मिश्र समेत 14 आरोपियों पर आईपीसी की धारा 147- बलवा, 148- घातक हथियारों के साथ बलवा करना, 149- सामान्य उद्देश्य से अपराध करना, 326- अङ्ग भङ्ग करना, 307- जानलेवा हमला करना, 302- हत्या, 120 B- आपराधिक षडयंत्र, 427-सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाना और मोटर वाहन अधिनियम की धारा 177 (मोटर वाहन अधिनियम के नियमों का उल्लंघन करने पर दण्ड) में आरोप तय करने के लिए प्रयाप्त आधार पाए हैं.

इसके अलावा आरोपी सुमित जायसवाल के खिलाफ शस्त्र अधिनियम की धारा 3/25 ( बिना लाइसेंस के शस्त्र रखना), आरोपी मंत्री पुत्र आशीष मिश्र, अंकित दास, लतीफ उर्फ काले और सत्यम त्रिपाठी पर शस्त्र अधिनियम की धारा 30 (शस्त्र लाइसेंस की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए दण्ड) आरोपी नन्दन सिंह विष्ट पर शस्त्र अधिनियम की धारा 5/27 (अवैध असलहे का उपयोग करने के लिए दण्ड) का भी आरोप तय करने के लिए पर्याप्त आधार पाए हैं.

Leave a Response