देश/प्रदेश

1100 लाभार्थियों के नाम पर नौ करोड़ का घोटाला

रुद्रपुर : दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले में बाहरी राज्यों में 1100 छात्रों के फर्जी तरीके से प्रवेश कर दलालों और शैक्षिक संस्थानों ने 9 करोड़ से अधिक की छात्रवृत्ति हड़प ली। इसकी पुष्टि बाहरी राज्यों में अध्ययनरत 2500 छात्रों से पूछताछ में हुई है, जबकि अभी भी 500 छात्रों से पूछताछ होनी है।

 

बता दें कि दशमोत्तर छात्रवृत्ति में अनियमितता मिलने के बाद यूएसनगर में भी एसआइटी का गठन कर जांच शुरू की गई थी। इसके लिए जिला समाज कल्याण विभाग से मिले दस्तावेजों के आधार पर एसआइटी ने पहले चरण में बाहरी राज्यों में अध्ययनरत 3000 से अधिक छात्रों का भौतिक सत्यापन कर पूछताछ की।

इसमें कई छात्रों के फर्जी तरीके से प्रवेश कराकर छात्रवृत्ति हड़पने की पुष्टि हुई। इस पर एसआइटी ने जसपुर, काशीपुर, कुंडा, बाजपुर, सितारगंज में 29 शैक्षिक संस्थान समेत 50 से अधिक दलालों पर केस दर्ज किया था। साथ ही 16 दलालों को गिरफ्तार कर लिया था।

इधर, बाहरी राज्यों में अध्ययनरत छात्रों से पूछताछ का सिलसिला जारी है। एसआइटी सूत्रों की मानें तो अब तक यूएसनगर में बाहरी राज्यों में अध्ययनरत 2500 लाभार्थियों से पूछताछ हो चुकी है। इसमें 1400 लाभार्थी सही पाए गए हैं।

1100 लाभार्थियों के नाम पर शैक्षिक संस्थान और बिचौलियों ने जिला समाज कल्याण विभाग की मिलीभगत से 9 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति हड़प ली है। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक 9 करोड़ रुपये की घोटाले की पुष्टि तब हुई है, जब केवल 2500 लाभार्थियों से पूछताछ की गई है।

अभी जिले के शैक्षिक संस्थानों में अध्ययनरत सवा लाख छात्रों से पूछताछ होनी शेष है।दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी जसपुर, काशीपुर, बाजपुर, गदरपुर, रुद्रपुर, सितारगंज, खटीमा ब्लॉक में लाभार्थियों से पूछताछ कर रही है।

अब तक हुई पूछताछ में रुद्रपुर को छोड़कर सभी ब्लॉकों में छात्रों का फर्जी तरीके से शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश कर छात्रवृत्ति हड़पने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि रुद्रपुर में हुई जांच में एसआइटी को अब तक एक भी ऐसा मामला नहीं मिला है।

बाहरी राज्यों के शैक्षिक संस्थानों की जांच अंतिम चरणों में पहुंच चुकी है। इसके बाद एसआइटी यूएसनगर के शैक्षिक संस्थानों की जांच करेगी। इसके लिए पूर्व में एसआइटी ने जिले के 250 से अधिक शैक्षिक संस्थानों को नोटिस जारी कर उनसे छात्रवृत्ति लेने वाले लाभार्थियों की सूची मांगी थी।

एक माह बीत गया है लेकिन 50 शैक्षिक संस्थानों को छोड़कर किसी ने भी लाभार्थियों की रिपोर्ट एसआइटी को नहीं दी है। इसे देखते हुए एसआइटी ने करीब 200 शैक्षिक संस्थानों को रिपोर्ट उपलब्ध कराने के लिए नोटिस जारी किए हैं।

विशेष