देश/प्रदेश

11 साल पहले पाकिस्तान से आए शरणार्थियों ने जताई खुशी

फरीदाबाद: नागरिकता संशोधन विधेयक संसद के दोनों सदनों से पास हो गया है, लेकिन इसका विरोध पूर्वोत्तर में किया जा रहा है. असम से लेकर अरुणाचल प्रदेश और मेघालय में CAB का विरोध लगातर तेज हो रहा है. वहीं इसके उलट इस विधेयक के आने से जिन शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिल गई है, वो बेहद खुश नजर आ रहे हैं.

हरियाणा के फरीदाबाद में भी ऐसे कई परिवार हैं, जो कई साल पहले पाकिस्तान से अपना सब कुछ छोड़कर भारत आ गए थे. भारत में उन्हें छत और रोटी तो मिली, लेकिन वो कभी भारत के नागरिक नहीं बन पाए. ऐसे शरणार्थी अब बिल पास होने के बाद भारत के नागरिक बन जाएंगे.

पाकिस्तान से आए शरणार्थियों से उनकी राय जानने ईटीवी भारत की टीम फरीदाबाद पहुंची. नागरिकता संशोधन विधेयक के पास होने से पाकिस्तान से आए शरणार्थियों में खुशी का माहौल देखने को मिला. विधेयक के पास होने पर पाकिस्तान से आए शरणार्थी जमकर थिरके और उन्होंने इसके लिए पीएम मोदी का धन्यवाद किया और भारत माता की जय के नारे लगाए.

शरणार्थियों ने जमकर किया डांस
पाकिस्तान से आए शरणार्थियों ने कहा कि उन्हें रोटी की इतनी चाह नहीं थी, जितनी भारत की नागरिकता की थी. वह कई वर्षों से यहां रह रहे हैं, बावजूद इसके पहले किसी ने उनके बारे में नहीं सोचा. उनके जीवन की एक नई शुरुआत इस विधेयक के पास होने से हुई है और अब वह भी भारत के नागरिक बन सकेंगे. उन्होंने कहा कि अब वह भी देश के विकास में अपना योगदान दे सकेंगे.

शरणार्थियों ने बताया कि वह 2008 में पाकिस्तान से भारत आए थे. जिन परिस्थितियों में उन्होंने पाकिस्तान छोड़ा और वह भारत आए, उस दौरान उन्होंने एक लंबे वक्त तक मुसीबतों को झेला है. कई तरह की मुसीबतें उनके सामने आई. वह बार-बार पाकिस्तानी कहलाए गए, जबकि पाकिस्तान में भी उनके साथ गलत बरताव किया गया. अब जब विधेयक पास हो गया है तो उनको जीवन को जीने के लिए नई उम्मीद मिल गई है.

शरणार्थियों ने किया पीएम मोदी का धन्यवाद
इस मौके पर शरणार्थियों ने भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया, साथ ही साथ गृह मंत्री अमित शाह का भी तहे दिल से शुक्रिया किया.

विशेष