देश/प्रदेश

हल्दूचौड़ में रानीखेत एक्सप्रेस से टकराया सांड़

लालकुआं: काठगोदाम से दिल्ली जाने वाली रानीखेत एक्सप्रेस की चपेट में जंगली साड़ के आ जाने से दुर्घटना होते होते बची। इस दौरान इंजन का हॉर्स पाइप फट जाने के कारण रेलगाड़ी हल्दुचौड़ व लालकुआ के बीच में खड़ी हो गई।

हरकत में आए रेल विभाग ने रेलगाड़ी को ले जाने के लिए दूसरा इंजन भेजा। जिसके बाद करीब डेढ़ घंटे बाद रेलगाड़ी को रवाना किया गया। इस दौरान दिल्ली से आने वाली संपर्क क्रांति व काठगोदाम से हावड़ा जाने वाली हावड़ा एक्सप्रेस भी विलंब से रवाना हुई।

 

सोमवार की देर शाम को काठगोदाम से दिल्ली को जाने वाली रानीखेत एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय रात्रि 9.08 पर काठगोदाम से निकली। रेलगाड़ी हल्दुचौड़ से कुछ आगे निकली ही थी कि रेलवे ट्रैक पर आया एक जंगली साड रेलगाड़ी की चपेट में आ गया।

भिड़ंत इतनी तेज हुई कि ब्रेक लगाते-लगाते भी साड रेलगाड़ी के इंजन में फंस गया और काफी दूर तक घसिटता चला गया। परिणाम स्वरूप जहां रेलगाड़ी के इंजन का हार्स पाइप फट गया, सांड की दर्दनाक मौत हो गई। रेलगाड़ी से सांड की टक्कर के बाद लगे झटके के चलते यात्री घबरा गए।

सौभाग्य से दुर्घटना टल गई। घटना की जानकारी गाड़ी के चालक ने कंट्रोल रूम को दी। उसके बाद वरिष्ठ यातायात निरीक्षक मोहन राम ने मौके पर पहुंचकर हालात देखें और लालकुआं स्टेशन से दूसरे इंजन को मौके पर मंगाया। 10.35 बजे रेलगाड़ी को लालकुआं के लिए रवाना किया गया। इधर, रानीखेत एक्सप्रेस के हल्दूचौड़ में खराब होने के कारण जहां दिल्ली से काठगोदाम आने वाली संपर्क क्रांति भी करीब सवा घटा देरी से काठगोदाम को रवाना हुई।

वही, काठगोदाम से हावड़ा जाने वाली बाघ एक्सप्रेस भी हल्द्वानी से करीब 45 मिनट देरी से लालकुआं को रवाना हुई। स्टेशन अधीक्षक नीरज कुमार ने बताया कि जंगली जानवर के आ जाने से इंजन में तकनीकी खराबी आ गई थी। जिसके बाद लालकुआं में इंजन को बदल कर दिल्ली को रवाना किया गया।

विशेष