देश/प्रदेश

साहब, प्राधिकरण वाले सुविधा शुल्क मांगते हैं

अल्मोड़ा : मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार डॉ. केएस पंवार के सामने डीडीए का मुद्दा जोरशोर से उठा। भाजपाइयों ने आरोप लगाया कि फाइलों के निस्तारण को प्राधिकरण सुविधा शुल्क की मांग करता है। इससे जनता के बीच राज्य सरकार की साख खराब हो रही।

वहीं नगर की आंतरिक सड़कों की बदहाली पर कार्यकर्ताओं ने लोनिवि अधिकारियों पर गुस्सा उतारा। ईई निर्माण खंड के अनुपस्थित रहने पर औद्योगिक सलाहकार ने कड़ा एतराज जताते हुए नाम नोट कर लिया। इसके अलावा सांस्कृतिक नगरी में सीवरेज समस्या आदि मामले भी उठाए।

 

सर्किट हाउस में शुक्रवार को औद्योगिक सलाहकार डॉ. पंवार ने सीएम की घोषणा संबंधी विकास योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को आमजन व जनप्रतिनिधियों से संवाद कायम कर त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए।

डॉ. पंवार ने सीएम की कल्याणकारी घोषणाओं पर अमल कर तय समय पर पूरा करने को भी कहा। बोले कि शासन स्तर पर लंबित विकास कार्यो को पूरा करने के प्रयास किए जाएंगे। डॉ. पंवार ने कहा, अधिकाश सड़कें वन भूमि हस्तांतरण न होने से रुकी पड़ी हैं। लोनिवि अधिकारी वनभूमि संबंधी मामलों में तालमेल कायम कर तेजी लाएं।

डीएम नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि जिले में 132 में से 49 घोषणाएं पूरी हो चुकी हैं। 83 प्रगति पर हैं। सीएम की घोषणाओं की लगातार समीक्षा की जा रही।

डॉ. पंवार ने अधिकारियों से जनकल्याण की योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने के लिए दूरस्थ क्षेत्रों का दौरा कर समस्याओं के समाधान को भी कहा। इस मौके पर दर्जा राज्यमंत्री शमशेर सिंह सत्याल, विशेष कार्याधिकारी सीएम गोपाल सिंह रावत, मीडिया समन्वयक दर्शन सिंह रावत, प्रोटोकॉल अधिकारी आनंद सिंह रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष रवि रौतेला, पूर्व जिलाध्यक्ष गोविंद पिलखवाल, विपिन भटट, कैलाश गुरूरानी, एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा, सीडीओ मनुज गोयल, एडीएम बीएल फिरमाल, डीएफओ सिविल सोयम केएस रावत, एसडीएम सीमा विश्वकर्मा, पीडी नरेश कुमार आदि मौजूद रहे।

विशेष